नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव के लिये मतदाता जागरूकता अभियान चला रही रक्तदान सेवा समिति

छत्तीसगढ़


नि:शुल्क रक्तदाता के साथ लोकतांत्रित कत्र्तव्यों को पूरा करने का दे रहे संदेश

सराईपाली। आगामी नगरीय निकाय चुनाव 2019 के मद्देनज़र रक्तदान सेवा समिति द्वारा ऑनलाईन जन जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसमें जरूरतमंदों को रक्तदाता उपलब्ध करवाने के साथ साथ उन्हें आगामी चुनाव में मतदान करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है। विदित हो कि छत्तीसगढ़ में आगामी 21 दिसम्बर को नगरीय निकाय हेतु प्रदेश के 5406 मतदान केंद्रों पर 40 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। समिति के संस्थापक एवं अध्यक्ष मुस्तफीज आलम ने जानकारी देते हुए बताया कि समिति के सदस्यों के पास प्रतिदिन 30-40 फोन कॉल्स आते हैं जिनमें जरूरतमंदों को रक्तदाता मुहैया करवाने का कार्य हमारे द्वारा नि:शुल्क पिछले 6 वर्षों से किया जा रहा है, मरीज के परिजन से आवश्यक जानकारी लेने के बाद तथा उनकी समस्या का समाधान करने के बाद आगामी चुनाव हेतु 100 प्रतिशत मतदान हेतु जागरूक कर रहे हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग लोकतंत्र के पर्व में सम्मिलित होकर अपने अधिकार का प्रयोग करें एवं लोकतंत्र को मजबूत करें। फोन कॉल्स के माध्यम से जब लोगों को मतदान के महत्व के विषय मे बताया जाता है तब वे बड़े ध्यान से सुनते हैं और मतदान जरूर करने की बात कहते हैं जिससे सकारात्मक तौर हमें और प्रोत्साहन मिलता है। समिति के वरिष्ठ सदस्य पदमन पटेल, घनश्याम श्रीवास, लोकेश सिंह के द्वारा जानकारी दी गई कि मतदाता जागरूकता के लिये शासन एवं गैर सरकारी संगठनों के द्वारा तरह तरह के कार्यक्रम किये जाते हैं, संगोष्ठी, बैठक, सम्मेलन, रैली आदि लेकिन हमारे द्वारा चलाये जा रहे ऑनलाईन ब्लड कॉल सेंटर के ऑलनाईन जागरूकता कार्यक्रम को अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। हमारे द्वारा लगभग 2 हजार लोगों को फोन कॉल्स के माध्यम से मतदान हेतु जागरूक किया गया है एवं वर्तमान में भी प्रतिदिन 30-40 कॉल्स आ रहे हैं जिन्हे निरंतर जागरूक किया जा रहा है। समिति के सदस्य देवराज लोहा, पंकज मेश्राम, भोजराज बारीक, रितेश साहू प्रतिदिन समिति में आने वाले कॉल का जवाब देते हैं, रक्तदाता उपलब्ध करवाने के बाद मतदान जरूर करने की बात कहते हैं, समिति के सदस्यों द्वारा जिनको भी दो लेकिन वोट अवश्य दो तथा वोट न देने से क्या नुकसान होते हैं इसकी जानकारी आम लोगों को देते हैं। समिति के ही सदस्य उत्तम कठार, सुनील सागर, प्रवीण प्रधान, अनीश सुरजाल आदि ने बताया कि जब तक एक मतदाता को अपने मत का अर्थ नहीं समझ में आएगा तब तक भारत का सिस्टम बदलना मुश्किल है। सिस्टम को बदलने के लिए सभी को गणतंत्र का टीका लगाना होगा। मतदाताओं को समझना होगा कि उनका एक वोट केवल सरकार ही नहीं, बल्कि व्यवस्था बदलने का औजार भी बन सकता है और इसके जरिए खुद उस मतदाता का भाग्य भी बदल सकता है। हमारा देश एक गणतांत्रिक देश है, एक गणतांत्रिक देश में सबसे अहम होता है चुनाव और मत देना। गणतंत्र एक यज्ञ की तरह होता है जिसमें मतों यानि वोटों की आहुति बेहद अहम मानी जाती है इसी को ध्यान में रखते हुए रक्तदान सेवा समिति के सदस्य अधिक से अधिक मतदाताओं को इस मुहीम से जोडऩे का भरसक प्रयास कर रहे हैं। इस मुहीम में रक्तदान सेवा समिति के बंशीधर सिदार, धर्मेन्द्र ताण्डी, गुमान सिंह दीवान, घसिया पटेल, पुरूषोत्तम यादव, उमेश सामल अपना पूर्ण योगदान दे रहे हैं, समिति के सदस्यों ने बताया कि आगामी पंचायत चुनाव तक हम लगभग 10000 लोगों को मतदान के लिये जागरूक करने का लक्ष्य बनाकर चल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *