शहीद वीर नारायण सिंह स्मृति लोक नृत्य महोत्सव में कोण्डागांव प्रथम, बस्तर द्वितीय, दंतेवाडा तृतीय स्थान पर

छत्तीसगढ़

रायपुर।राज्य स्तरीय शहीद वीर नारायण सिंह स्मृति आदिवासी लोक नृत्य महोत्सव में कोण्डागांव जिले के चिखलीडीह के सोमनाथ दुग्गा और साथियों ने प्रथम, बस्तर जिले के बड़े किलेपाल के गणेश मण्डावी एवं साथियों के नर्तक दल को द्वितीय, दंतेवाडा जिले के पालनार के कोयाराम एवं साथियों के नर्तक दल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। महोत्सव में कबीरधाम जिला के रामपुर ठाठापुर की जय बूढादेव मितानी कर्मा दल को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के सचिव श्री डी.डी. सिंह और संचालक श्री मुकेश कुमार बंसल ने विजेता नर्तक दलों में प्रथम पुरस्कार एक लाख रूपए, द्वितीय पुरस्कार 50 हजार रूपए, तृतीय पुरस्कार 25 हजार रूपए और सांत्वना पुरस्कार 10 हजार रूपए के साथ प्रशस्ती पत्र भी प्रदान किया।

राज्य स्तरीय शहीद वीर नारायण सिंह स्मृति आदिवासी लोक नृत्य महोत्सव में आदिवासी नृत्य कलाकारों को चार पृथक-पृथक विधा पारंपरिक त्यौहार, विवाह, फसल कटाई और अन्य ओपन केटेगिरी में नर्तक दलों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। पारंपरिक त्यौहार की विधा में कोण्डागांव जिले के बिंजे के बल्दु राम एवं साथियों का दल, विवाह विधा में दंतेवाडा जिले की पालनार के कोयाराम एवं साथियों का दल, फसल कटाई विधा में बस्तर जिले की बड़े किलेपाल के गणेश मण्डावी और साथियों का दल और अन्य ओपन केटेगिरी विधा में कोण्डागांव जिले की चिखलीडीह के सोमनाथ दुग्गा एवं साथियों के दल ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। इन चारों विधाओं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले नर्तक दलों को इस वर्ष राज्य शासन द्वारा 27, 28 और 29 दिसम्बर को प्रदेश की राजधानी रायपुर में आयोजित राष्ट्रीय आदिवासी लोककला महोत्सव में शामिल होने का अवसर मिलेगा।
इसी प्रकार पारंपरिक त्यौहार विधा में जय माता दी करम नर्तक दल टाटीडांड़ जिला जशपुर ने द्वितीय और महिला अदिवासी करमा नृत्य तोलमा जिला रायगढ़ की श्रीमती अनिता टोप्पो एवं साथियों के दल ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। विवाह विधा में भुंजिया नर्तक दल टेंवारी जिला गरियाबंद ने द्वितीय और आदिवासी जय लिंको नृत्य ग्राम आंको विकासखण्ड छुरिया जिला राजनांदगांव ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। फसल कटाई विधा में जय बुढादेव मितानी करमा दल रामपुर ठाठापुर जिला कबीरधाम ने द्वितीय और कर्मा नर्तक दल कृष्णपुर जिला सूरजपुर ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। अन्य ओपन केटेगिरी विधा में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला धनौली जिला बिलासपुर ने द्वितीय और खैरोदाई सुवा नृत्य दल केसला जिला बलौदाबाजार ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इनके साथ ही सभी प्रतिभागी दलों को प्रशस्ती पत्र प्रदान किए गए।
महोत्सव में शामिल प्रत्येक दल को अपनी कला के प्रदर्शन के लिए 10 मिनट का समय दिया गया और नर्तक दलों की वेशभूषा, नृत्य शैली, गीत और दर्शकों पर प्रभाव के आधार पर निर्णायकों द्वारा विजेताओं का चयन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *