समूह की महिलाओं ने कार्यशाला में सीखें स्वरोजगार के गुर

छत्तीसगढ़

रायपुर । राजधानी रायपुर में 27 दिसम्बर को महिला समूहों के लिए क्षमता निर्माण पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया । जिसका उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर शहरी गरीब परिवार के महिला और युवाओं को कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से स्वरोजगार और वैतनिक रोजगार से जोड़कर उन्हें कैसे सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा देना है। जिसमे NULM के CO सुश्री ममता राजपूत,योगेश्वरी साहू,पूर्णिमा चंद्रकार जी उपस्थित थे । उन्होंने बताया कि किस तरह NULM योजना के तहत समुदाय की महिलाओं को महिला स्व सहायता समूहों का निर्माण कर संगठित किया जाता है और उन्हें प्रशिक्षित भी किया जाता है तथा समूहों की महिलाओं द्वारा बनाई गई डेली यूज की वस्तुओं जैसे- बडी, पापड़, अचार, मिर्च मसाले, फिनाइल व अन्य स्वनिर्मित वस्तुओं के स्टॉल लगाने एवं इस योजना के तहत स्वरोजगार प्रारंभ करने के इच्छुक युवाओं और महिलाओं और समूहों को ऋण उपलब्ध कराया जाता है साथ ही वित्तीय साक्षरता और ऋण प्राप्त करने के लिए परामर्श और सहायता देने का भी प्रावधान है। 
इसके अलावा धमतरी से आये हुवे श्री राजीव लोचन किसान कम्पनी के संचालक श्री मोहन पटेल द्वारा यह चर्चा किया कि किस तरह ग्रामीण समूह के माध्यम से शहरी समूह के साथ स्वरोजगार के नये अवसर प्रदान किया जा सकता है । ग्रामीण समूह द्वारा निर्मित जैविक खाद,मशरूम से बने अन्य खादय सामग्री , मशाले की उत्पादन को शहरी समूह के माध्यम से मार्केट, स्टॉल, छोटे दुकान में बिक्रय करने की व्यवस्था करे जिससे शहरी समूह के लिए रोजगार के अवसर मिलेंगे जिससे ग्रामीण समूह के उत्पादन शक्ति बढ़ेगी । इस प्रकार ग्रामीण और शहरी समूहों का स्व रोजगार में एक दूसरे के मददगार होंगे ।
आज के कार्यक्रम में रायपुर शहर के 10 स्लम बस्तियों से प्रेरणा यूथ ग्रूप ,घरेलु कामगार कल्याण संघ, इको फ्रेंडली यूथ ग्रुप और अलग अलग जगहों के स्वयं सहायता समूह के कुल 50 प्रतिभागी उपस्थित थे ।
इस कार्यक्रम के आयोजक कोहेजन फाउंडेशन ट्रस्ट और igsss द्वारा किया गया था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *