बिरेन्द्र साहू को प्रधानमंत्री ने कृषि कर्मण पुरस्कार से किया सम्मानित

छत्तीसगढ़

धमतरी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा मगरलोड के उत्कृष्ट कृषक श्री बिरेन्द्र कुमार साहू को कर्नाटक की राजधानी बैंगलुरू के तुमाकुरू में आयोजित कार्यक्रम में गुरूवार दो जनवरी को राष्ट्रीय स्तर पर ‘कृषि कर्मण पुरस्कार‘ से सम्मानित किया गया। प्रधानमंत्री द्वारा श्री साहू को प्रशस्ति-पत्र के साथ प्रोत्साहन स्वरूप दो लाख रूपए का चेक कर्नाटक के मुख्यमंत्री श्री बीएस येदियुरप्पा की उपस्थिति में प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार वर्ष 2016-17 एवं 2017-18 में आधुनिक कृषि पद्धति से धान फसल के उल्लेखनीय उत्पादन के लिए प्रदाय किया गया है।
उप संचालक कृषि ने बताया कि मगरलोड विकासखण्ड के ग्राम बेलौदी निवासी 38 वर्षीय युवा किसान श्री बिरेन्द्र साहू ने 24 हेक्टेयर रकबा में धान की उन्नत किस्म के बीज का रोपण कर हरी खाद, वर्मी कम्पोस्ट, संतुलित उर्वरकों का प्रयोग कर आधुनिक कृषि यंत्र पैडी ट्रांसप्लांटर के माध्यम से बेहतर फसल उत्पादन का प्रदर्शन किया। स्नातक तक शिक्षित कृषक श्री साहू ने कृषि विभाग के एक्सटेंशन रिफॉर्म्स के तहत फसलोत्पादन हेतु प्रदर्शन, प्रशिक्षण, भ्रमण व फार्म स्कूल के माध्यम से तकनीकी एवं वैज्ञानिक पद्धति से जानकारी लेकर कृषि कार्य किया। श्री साहू ने पुश्तैनी खेत जो कि 24 हेक्टेयर क्षेत्र में है, कन्हार व डोरसा किस्म की भूमि है। कृषि विभाग की मदद से ट्यूबवेल का खनन कराए जाने के श्री साहू का 20 एकड़ खेत द्विफसली हो गया। उन्होंने विभाग की सब्सिडी के तहत वर्ष 2016-17 में पैडी ट्रांसप्लांटर मशीन क्रय की जिसके बाद 12 हेक्टेयर भूमि में धान की हाइब्रिड किस्म व्हीएनआर 2355 की नर्सरी तैयार कर मशीन से रोपाई की। तदुपरांत मृदा स्वास्थ्य परीक्षण में आए परिणाम के आधार पर पोषक तत्व प्रबंधन के रूप में हरी खाद (ढेंचा) की बोआई मई माह में की, जिसके 35 दिनों के बाद खेतों की मचाई कर उसमें 10 ट्रॉली गोबर खाद, 12.5 बोरा वर्मी कम्पोस्ट तथा 120 किलो डीएपी, 75 किलोग्राम पोटाश, 125 किलो ग्राम प्रति हेक्टेयर के हिसाब से उपयोग किया। परिणामस्वरूप धान का उत्पादन 95 क्विंटल प्रति हेक्टेयर प्राप्त हुआ, जिसकी प्रति एकड़ कुल उत्पादन लागत 39000 रूपए आई। इस तरह न्यूनतम समर्थन मूल्य 1470 रूपए प्रति क्विंटल की दर से विक्रय करने पर कुल एक लाख 39 हजार 650 रूपए की आय प्राप्त हुई, यानी लगभग एक लाख रूपए प्रति हेक्टेयर के मान से युवा किसान श्री साहू को लाभ मिला।
श्री साहू ने वर्ष 2016-17 में कम्पनी एक्ट के तहत श्री राजीवलोचन एग्रो इन्वेंशन प्रोड्यूसर कम्पनी (एफपीओ) गठित किया, जिससे 1129 किसान जुड़कर नवाचारी कृषि पद्धति से फसलोत्पादन कर रहे हैं। वर्ष 2017-18 में उक्त समिति का वार्षिक टर्नओव्हर 31 लाख रूपए है। वर्तमान में उक्त कंपनी के द्वारा आधुनिक पद्धति से उन्नत खेती करने के साथ-साथ वर्मी कम्पोस्ट, वर्मी वॉश, मशरूम उत्पादन एवं प्रसंस्करण का भी कार्य सफलतापूर्वक किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश को तीन बार कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है, जिसमें से दो बार धमतरी जिले का प्रतिनिधित्व रहा है। उक्त उपलब्धि पर कलेक्टर श्री रजत बंसल, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती नम्रता गांधी व उप संचालक कृषि ने युवा प्रगतिशील किसान श्री साहू को उनकी उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं प्रेषित की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *