एम्स में इलाज के दौरान लापरवाही का आरोप, प्रधानमंत्री एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से शिकायत

छत्तीसगढ़


तिल्दा नेवरा (अविनाश वाधवा)। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर स्थित अखिल भारतीय आयुर्वेदिक संस्थान (एम्स) में बालिका की इलाज के दौरान लापरवाही का मामला सामने आया है। बालिका के परिजनों ने इलाज के दौरान लापरवाही का आरोप लगाते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस आशय की शिकायत परिजनों प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से डॉ. हर्षवर्धन जैन एवं प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से की है। शिकायतकर्ता प्रकाश मेघानी निवासी संत कंवरराम वार्ड क्रमांक 06 निवासी ने अपने शिकायत पत्र में लिखा है कि मेरी पुत्री वंदना मेघानी (19 वर्षीय) की तबीयत खराब होने के कारण विगत 14 जनवरी को रायपुर स्थित एम्स में इलाज के लिए लाया गया था जहां पर ब्लड टेस्ट के नाम पर मेरी पुत्री वंदना के हाथ से ब्लड सैम्पल निकालने के दौरान गलत तरीके से ब्लड निकाला गया जिससे हाथ का नस कट गया और अधिक ब्लड निकलने के कारण वह बेहोश होकर गिर गई। जिसे वहां किसी कर्मचारी द्वारा ना तो उठाया गया और ना ही ध्यान दिया गया। और ना ही किसी प्रकार का उपचार किया गया और वहां के कर्मचारी उल्टे धमकाते हुए कहने लगे कि यह सरकारी अस्पताल है यहां क्यों आते हो। उसके बाद ब्लड रिपोर्ट भी आज दिनांक तक नहीं दिया गया और ब्लड जांच के नाम पर 1015 रुपए जमा कराया गया। जिसकी ब्लड रिपोर्ट आज पर्यंत तक अप्राप्त है। इसकी जानकारी मेरे द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन जैन और पीएमओ कार्यालय को ट्वििट करके तत्काल दिया गया है। अत: आपसे अनुरोध है कि मेरी पुत्री कुमारी वंदना मेघानी की छत्तीसगढ़ एम्स में गलत इलाज करने तथा दोषी डॉक्टर एवं कर्मचारियों के विरुद्ध जांच कर आवश्यक कार्यवाही किये जाने की कृपा करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *