मुक्ति का एक मात्र साधन है श्रीमद् भागवत:पं. मनोज उपाध्याय

देश धर्म मप्र


निकली भव्य कलश शोभायात्रा, जगह-जगह पुष्प वर्षा से हुआ स्वागत
खंडवा। बुद्धि के दाता गणेश भगवान का चिन्तन करने से काम, क्रोध, मोह, लोभ सब छुट जाता है। श्रीमद् भागवत पांचवा वेद है जिनके श्रवण मात्र से जीव मोक्ष का अधिकारी हो जाता है। उक्त उद्बोधन किशोर नगर रहवासी संघ के तत्वावधान में किशोर नगर स्थित श्री मनोकामेश्वर हनुमान मंदिर वाटिका में श्रीमद् भागवत कथा महोत्सव के दौरान प्रारंभ दिवस सोमवार को पं. मनोज उपाध्याय ने श्रीमद् भागवत कथा के माहत्तम का वर्णन करते हुए दियें। यह जानकारी देते हुए संघ अध्यक्ष पं. प्रेमनारायण तिवारी एवं प्रवक्ता निर्मल मंगवानी ने बताया कि प्रथम दिवस दोपहर 3 बजे से कथा का शुभारंभ हुआ। आयोजन के पूर्व दोपहर 1 बजे कथा स्थल हनुमान वाटिका से आयोजन के दौरान प्राण प्रतिष्ठा की जाने वाली मूर्तियों भगवान् श्रीराम, माता सीता, लक्ष्मण जी, श्री हनुमान जी, माता नवदुर्गा एवं विशाल शिवलिंग एक ट्राली पर सजाकर मंदिर से विशाल कलश शोभा यात्रा बालिकाओं, महिलाओं एवं श्रद्धालुओं की उपस्थिति में बैंड बाजों की सुमधुर लेहरियों एवं भक्तिमय गीतों के साथ शुक्ला नगर होते हुए कथा स्थल तक निकाली गयी। यात्रा के दौरान मुख्य यजमान श्रीमती रजनी मनोहर चंदानी एवं श्रीमती मंजुला हुकुमचंद चौहान द्वारा परिवार सहित महापुराण को मस्तक पर धारण कर नगर भ्रमण किया। यात्रा का जगह-जगह पुष्प वर्षा से भव्य स्वागत किया गया। प्रात: 10 बजे से मंदिर में पंडितों द्वारा श्री गणेश मंत्रों से पूजन किया गया। श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ  महोत्सव का 26 तक संगीतमय आयोजन प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। आयोजन के दौरान संजय शुक्ला, कमलचंद दुबे, अशोक ओझा, अशोक तिवारी, अवधेश ओझा,  मनीष साकल्ले, निर्मल मंगवानी, आनंद चौरे, संजय सोनी, आशीष अग्रवाल, चाहत दुबे, दुर्गेश तिवारी, राजू चतुर्वेदी, मुकेश चौकसे, भीमसिंह दरबार, श्रीराम कुशवाहा, दिनेश बरोले, दुर्गेश बबलू तिवारी, जानकी अग्रवाल, माया सरावगी, किरण दुबे, राम उपाध्याय, अक्षत शर्मा, किशोर नगर रहवासी संघ सदस्यगण आदि सहित बड़ी संख्या में नगरवासी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *