जैविक खाद से किसान कर रहे है सुगंधित चावल का उत्पादन

छत्तीसगढ़


सूरजपुर। जैविक व कृषकों की आय दुगुनी करने में सार्थकता सिद्ध करना सोनगरा ग्राम पंचायत, जहां कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी अभिषेक सिंह के सार्थक प्रयास से सोनगरा क्षेत्र के किसान कृषि विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ ले तो रहे है, साथ-साथ पुरानी पद्धत्ति जैविक खेती, जिसमें कृषकों द्वारा किसी भी प्रकार के रासायनिक खाद के बिना प्रयोग के ही सुगंधित चावल के उत्पादन में जिले में अग्रणी भूमिका निभा रहे है, कलेक्टर दीपक सोनी के निर्देशन में सोनगरा ग्राम पंचायत के कृषकों द्वारा सूरजपुर सेफ फुड फारर्मस कंपनी नामक कृषक कंपनी का निर्माण किया गया है, जो वर्तमान में जिले में एकमात्र ऐसी पंजीकृत कंपनी बन चुकी है, जिसके सेवाधारक सभी छ: ब्लाकों में उत्पादक कृषक है, जो अपने उत्पाद जैसे-मक्का, मंूगफली, कोदों कुटकी, सुगंधित चावल, इत्यादि सभी का विक्रय आनलाईन बाजार से लेकर प्रदेश के बाहर भी जिले के उत्पादों की अब अच्छी दामों पर बिक्री हो रही है, जिससे सूरजपुर जिले के कृषक आर्थिक रूप से मजबूत हो रहे है। कलेक्टर दीपक सोनी के द्वारा चलाये जा रहे समाधान सूरजपुर के नोडल अधिकारी श्री त्रिपाठी द्वारा निरंतर ग्रामों का सघन निरीक्षण कर सभी शासकीय कार्यों का निरंतर समीक्षा की जा रही है, उनके निरीक्षण के दौरान शासकीय विद्यालयों की स्थिति, विद्यार्थियों की उपस्थिति व मध्यान्ह् भोजन की गुणवत्ता, किचन गार्डन की स्थापना, स्वास्थ्य व आगनबांडी इत्यादि का सघन निरीक्षण कर प्रत्येक वर्ग को लाभ दिलवाने हेतु निरंतर प्रयास किया जा रहा है। सोनगरा ग्राम पंचायत में राज्य शासन की महति परियोजना (नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी) के तहत् गौठान का निर्माण किया गया है, जिसमें गोठान भ्रमण चरवाहा द्वारा करवाकर चारा खिलाया जा रहा है, गोचर की भूमि पर कृषि विभाग के कृषि विस्तार अधिकारी के सघन प्रयास से 5 एकड़ में गेहूं, सरसों का लाईनवार से करवाया गया है। घुरूवा कार्यक्रम के अंतर्गत सोनगरा ग्राम पंचायत के समस्त अग्रणी कृषकों के यहां घुरूवा उपचार कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा कराया गया है, इसके साथ ही सौर सुजला योजना के तहत् 20-25 कृषकों के यहां सोलर पम्प स्थापित कर रबी क्षेत्राच्छादन को बढ़ावा देने का निरंतर प्रयास किया जा रहा है। साथ ही कलेक्टर दीपक सोनी के सहयोग से महिला ग्राम संगठन व समूह को अनपॉलिस राईस मिल दिया गया है, जिसमें सुंगधित चावल की मिलिंग कर पैंकेजिंग की प्रक्रिया भी संचालित है। सभी कार्यों से निष्पादित समाधान सूरजपुर की सार्थकता अब जिले में फलीभूत होती दिख रही है, जो जिले को नये आयाम देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *