स्वच्छता सर्वेक्षण सूची में रायपुर भी हो टॉप पर, स्वच्छता व्यवस्था सर्वोच्च प्राथमिकता:महापौर

छत्तीसगढ़


रायपुर। राजधानी रायपुर नगर निगम के महापौर एजाज ढेबर का कहना है कि महापौर बनने के बाद शहर की स्वच्छता व्यवस्था सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी। स्वच्छता सर्वेक्षण में रायपुर हमेशा पीछे रहा है। नगर निगम का प्रयास होगा कि अगली बार इंदौर की तर्ज में रायपुर का नाम भी स्वच्छता सर्वेक्षण सूची में टॉप पर हो। उक्त बातें उन्होंने प्रेसक्लब रायपुर में आयोजित प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में कही। उन्होंने बताया कि स्वच्छता संबंधी शिकायतों के लिए जल्द ही नगर निगम एक टोल फ्री नंबर जारी कर रहा है जिसमें एमआईसी सदस्य एवं वे स्वयं नगर निगम मुख्यालय में एक घंटा बैठकर स्वच्छता पर केन्द्रित समस्याओं का निदान करेंगे। जनसहयोग के बिना स्वच्छता अभियान संभव नहीं है। जनजागरूकता के चलते अब लोग शहर में सफाई व्यवस्था का महत्व समझने लगे हैं। महापौर एजाज ढेबर ने बताया कि नगर निगम द्वारा स्वच्छता कर्मियों को 10 हजार 150 रूपए प्रतिमाह वेतन दिया जाता है जो पीएफ कटकर 8 हजार रूपए प्रतिमाह उनके खाते में जमा होना चाहिए था किंतु 4 हजार स्वच्छता कर्मियों के संबंधित ठेकेदारों द्वारा उनके एटीएम कार्ड जब्त कर उन्हें केवल 6 हजार रूपए प्रतिमाह वेतन दिया जा रहा था। मामला संज्ञान में आने पर उन्होंने ठेकेदारों के अर्थशोषण से स्वच्छता कर्मियों को मुक्त कराया एवं उनके एटीएम कार्ड उन्हें सौंपे। 12 दिन माह महापौर बनने के दौर में यह उनका प्रभावी कार्य है। पेयजल समस्या पर उन्होंने कहा कि ग्रीष्म ऋतु में पेयजल समस्या गंभीर रूप लेती है। इस पर भी निगम का ध्यान है। तीन नवनिर्मित पानी टंकिया मार्च-अप्रैल तक बनकर तैयार हो जाएंगी। उनसे पेयजल की आपूर्ति किए जाने से 70 प्रतिशत जनता की पेयजल समस्या का निराकरण होगा। महापौर ने कि 14 एमआईसी सदस्यों के कार्यों का हर 6 माह में समीक्षा बैठक के जरिए जानकारी ली जाएगी। काम नहीं करने वाले सदस्यों को एमआईसी की सदस्यता से वंचित किया जाएगा। प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में पहुंचे महापौर का प्रेस क्लब के अध्यक्ष दामू आम्बेडारे, संजय शुक्ला, जावेद खान, मनोज नायक सहित वरिष्ठ पत्रकारों एवं छायाकारों ने पुष्पगुच्छ देकर सम्मान किया। परंपरा के अनुसार महापौर को स्मृति चिन्ह देकर उनके कार्यकाल के सफल होने के लिए प्रेसक्लब परिवार ने शुभकामनाएं दीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *