महिलाओं और बच्चों की सहायता के लिए सभी थानों में महिला डेस्क

छत्तीसगढ़


रायपुर। राज्य शासन द्वारा महिलाओं और बच्चों पर घटित अपराधों के संदर्भ में पुलिस सहायता के लिए राज्य के सभी थानों में महिला डेस्क बनाया गया है। इसके अलावा महिलाओं के विरूद्ध घटित अपराधों की नियमित रूप से निगरानी के लिए 15 दिसम्बर 2019 से विशेष प्रकोष्ठ भी बनाया गया है। पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों ने बताया कि महिलाओं के विरूद्ध घटित अपराधों के अधिकांश प्रकरणों में 60 दिनों के भीतर चलान प्रस्तुत किए गए है। इसके फलस्वरूप इस वर्ष महिलाओं के विरूद्ध घटित अपराधों में कमी आई है। वर्ष 2019 में मानव तस्करी के कुल 50 प्रकरण दर्ज हुए, जिनमें सभी 381 व्यक्तियों को मुक्त करा कर अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। अधिकारियों ने बताया कि राज्य पुलिस द्वारा गुमे हुए बच्चों की बरामदगी के लिए ‘मुस्कान अभियान‘ चलाया गया। इस अभियान के तहत राज्य गठन के बाद से अब तक गुमे हुए 45 हजार 414 बच्चों में से 43 हजार 752 बच्चों को ढूंढकर उनके माता-पिता को सौंपे जा चुके है। इस अभियान से अभिभावकों और बच्चों के चेहरे पर मुस्कान आयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *