प्रशिक्षु आईएएस ने समझा अम्बिकापुर के स्वच्छता मॉडल की बारीकियां

छत्तीसगढ़


अम्बिकापुर। अम्बिकापुर शहर के कचरा प्रबंधन मॉडल का अध्ययन करने मंगलवार को लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी मसूरी के 2019 बैच के 18 आईएएस प्रशिक्षुओं का दल यहां पहुंचा। प्रशिक्षु आईएएस के दल ने सबसे पहले कलेक्टोरेट परिसर स्थित कलेक्टर कक्ष में कलेक्टर डॉ0 सारांश मित्तर एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा से सौजन्य मुलाकात किये। कलेक्टर डॉ. मित्तर ने प्रशिक्षु आईएएस को प्रशासनिक अनुभव साझा करते हुए आवश्यक मार्गदर्शन दिए। इसके बाद नया बस स्टैण्ड स्थित एसएलआरएम सेन्टर, बिलासपुर रोड स्थित स्वच्छता चेतना पार्क तथा डीसी रोड स्थित मैरिन ड्राइव तालाब का अवलोकन किया। उन्होंने स्वच्छा चेतना पार्क में ठोस एवं गीले कचरे के साथ प्लास्टिक एवं धातु के कचरे का पृथक्करण तथा उसके उचित निपटान की बारीकियों को समूह की महिलाओं से समझा। उन्होंने समूह की महिलाओं से डोर टू डोर कचरा कलेक्शन से लेकर सेग्रीगेशन तथा आय अर्जित करने तक के चरण का विस्तृत जानकारी लिए। कचरा प्रबंधन के साथ महिला समूह की भागीदारी तथा जीविकोंपार्जन के साधन उपलब्ध कराने के पहले की सराहना किये। प्रशिक्षु आईएएस अधिकारियों ने अम्बिकापुर के स्वच्छता मॉडल को वैज्ञानिक पद्धति बताते हुए जब उनकी पोस्टिंग किसी जिले में होगी तो वहां इस मॉडल को अपनाने पहल करने की बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *