जो समर्पण भाव से कार्य करता है, वह एक दिन प्रदेश-देश का नेतृत्व करता है: सुश्री उइके

छत्तीसगढ़

: राज्यपाल नेहरू युवा केन्द्र द्वारा आयोजित अंतर्राज्यीय युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में हुई शामिल

रायपुर। समाज सेवा से ही आत्मविश्वास आता है और जो समर्पण भाव से कार्य करता है, वह एक दिन प्रदेश और देश का नेतृत्व करता है। नेहरू युवा केन्द्र जैसे समाजसेवी संस्थाएं युवाओं में राष्ट्र निर्माण-नेतृत्व और समाज सेवा की भावना पैदा करते हैं। ऐसी संस्थाओं में कार्य करने वाले युवा अपने अंदर हौसला रखें, जीवन में निश्चित ही सफल होंगे तथा देश और अपने माता-पिता का नाम रोशन करेंगे। यह बात राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के सभागृह में नेहरू युवा केन्द्र संगठन द्वारा आयोजित अंतर्राज्यीय युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में कही। राज्यपाल ने कार्यक्रम में उपस्थित गुजरात के युवाओं का स्वागत किया और शुभकामनाएं दी।
राज्यपाल सुश्री उइके ने कहा कि वे अपने छात्र जीवन में एन.एस.एस. जैसी संस्थाओं में कार्य किया और समाज के दीनदुखियों के प्रति सेवा कार्य में भागीदारी निभाई। उस समय से ही मेरे मन में समाज के प्रति सेवा करने की भावना जागी। उन्होंने अपनी पुराने दिनों की बातें साझा करते हुए कहा कि मेरे जीवन में कई सफलता-असफलता का दौर आया, परन्तु मैं हार नहीं मानी तथा निरंतर कार्य करती रही। इन्हीं कार्यों के परिणाम स्वरूप आज मुझे बिना अपेक्षा के राष्ट्रीय महिला आयोग, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग और राज्यपाल जैसे पद में कार्य करने का अवसर मिला।
उन्होंने कहा कि आजकल यह देखा जाता है कि लोग सार्वजनिक स्थानों के जन महत्व के साधनों जैसे स्ट्रीट लाईट को तोड़ देते हैं और अन्य वस्तुओं को भी नुकसान पहुंचाते हैं। इन पस्थितियों में नेहरू युवा केन्द्र जैसी संस्थाओं का योगदान महत्वपूर्ण हो जाता है, जो युवाओं में सकारात्मक भाव पैदा करती है और उनकी ऊर्जा को राष्ट्र निर्माण की ओर ले जाते हैं। राज्यपाल ने युवाओं से आग्रह किया कि वे जीवन में कभी हिम्मत नहीं हारें, हमेंशा समर्पण भाव से मेहनत करते रहें। वे अवश्य सफल होंगे। वे जीवन में हमेंशा हमारे महापुरूषों को याद रखें, हमेशा सकारात्मक भाव से कार्य करते रहें। आज समाज उन्हें सम्मान की नजरों से देखता है।
राज्यपाल ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से सभी राज्यों को एक-दूसरे की संस्कृति, भाषा और पहनावे को जानने का अवसर मिला है। इससे बड़ा लाभ यह होता है कि हमारे देश के सभी राज्यों के बीच एक मधुर संबंध स्थापित होते हैं, लोग एक दूसरे को समझ पाते हैं। साथ ही हमारे देश की एकता और अखण्डता भी मजबूत होती है।
इस कार्यक्रम में विभिन्न प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर पद्मविभूषण श्रीमती तीजन बाई, श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के कुलपति श्री अंकुर अरूण कुलकर्णी, नेहरू युवा केन्द्र संगठन के राज्य निदेशक श्री त्रिलोकी नाथ मिश्रा सहित गुजरात और छत्तीसगढ़ के बड़ी संख्या में युवक-युवतियां उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *