कर्तव्य और मानवता की मिसाल ‘तनुजा और संतीष‘ को मिला सम्मान …

छत्तीसगढ़

कोण्डागांव।कार्यालय कलेक्टर कोेण्डागांव के कोण्डागांवसभा कक्ष में मंगलवार आयोजित समय-सीमा बैठक में मानवता का उत्कृष्ट उदाहरण तनुजा देवांगन एवं सतीश जंगाम को कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम द्वारा चैम्पियन आॅफ चेंज सम्मान से नवाजा गया। विदित हो कि तनुजा देवांगन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मसोरा में व्याख्याता के रूप में पदस्थ है। वर्ष 2014 में पदोन्नति के पश्चात जब इनका स्थानान्तरण मसोरा की शाला में हुआ तब उन्हें प्रथम बार नवमीं कक्षा में अध्ययनरत जामकोट निवासी एक अस्थिबाधित बालिका का ज्ञान हुआ जिसकी माता एक परित्यक्ता थी एवं अपने मातृ गृह में निवास करती थी। यह बालिका अध्ययन के क्षेत्र में अन्य छात्रों के मुकाबले अधिक प्रतिभावान थी, परन्तु शारीरिक व्याधियों से पीड़ित होने के कारण शाला स्वयं आने में असमर्थ थी एवं घर के अन्य सदस्य अपने आजीविका कार्याे के चलते बालिका को प्रति दिन स्कूल नही पहुंचा पाते थे ऐसे में शिक्षिका ने ठाना कि वह इस बच्ची की हरसंभव मद्द करेंगी और वे अगले ही दिन से बालिका को स्वयं अपने वाहन से स्कूल ले जाने लगी। इससे हालात हार मान चुकी उस बालिका के आत्मविश्वास में वृद्वि हुई और आने वाले चार सालो में यह सिलसिला जारी रहा उस बालिका ने हाॅयर सेकेण्डरी परीक्षा अनगिनत परेशानियों के बाद भी शिक्षिका के इस छोटे प्रयास के सहारे उत्तीर्ण किया। इसी प्रकार ग्राम बड़ेकनेरा (कदमपारा) में पदस्थ शिक्षक संतीश जंगाम द्वारा शैक्षणिक कार्य के अलावा अन्य सराहनीय गतिविधियों जैसे शाला परिसर में वृक्षारोपण, फैंसिंग तथा दसवी और बारहवी के छात्रों को प्रयास, उत्कर्ष एवं एकलव्य विद्यालयों की प्रवेश परीक्षा हेतु निःशुल्क मार्गदर्शन दिया गया। इसके चलते बैठक में दोनो शिक्षक द्वय श्रीमती तनुजा देवांगन एवं सतीश जंगाम को इस मानवता की ज्वलंत उदाहरण एवं सराहनीय प्रयास द्वारा समाज को प्रेरित करने के लिए कलेक्टर द्वारा चैम्पियन आॅफ चेंज से सम्मानित किया गया। कलेक्टर ने इस अवसर पर कहा ऐसे ही कर्तव्यनिष्ठ प्रयास ही हमारे समाज के आधार स्तंभ है जिस पर यह समाज खड़ा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *