नक्सल प्रभावित बोराईवासियों का अब नहीं रहा खुशी का ठिकाना, सरकार के इस व्यवस्था से हो गए गदगद …

छत्तीसगढ़


रायपुर। धमतरी जिले के नगरी सिहावा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित ग्राम बोराई के निवासी शुद्ध पेयजल की सुगम व्यवस्था से खुशी से गदगद हो रहे हैं। ग्राम बोराई जिला मुख्यालय से 90 किलोमीटर दूर स्थित है। 2011 की मतगणना के अनुसार बोराई ग्राम की जनसंख्या 1265 थी। ग्रामवासियों के लिए पेयजल आपूर्ति के लिए 17 हैंडपंप, एक सिंगल फेस पावर पंप एवं स्थल जलप्रदाय योजना के माध्यम से पेयजल प्रदाय किया जा रहा था। बोराई ग्राम पूर्ण रूप से वन से घिरा नक्सल प्रभावित क्षेत्र है। जहां पर ग्रीष्म ऋतु में भूमिगत जल स्तर क्षींण हो जाता है और आयरन युक्त पानी के कारण ग्रामीणों के समक्ष भीषण पेयजल संकट उत्पन्न हो जाता था। सुगम पेयजल की व्यवस्था से ग्रामीण शासन प्रशासन का आभार व्यक्त कर रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार के मार्गदर्शन में विभाग द्वारा ग्राम बोराई में 48 लाख 90 हजार लागत की टंकी पर आधारित नल जल प्रदाय योजना की स्वीकृति के बाद यहां की बसाहट में 3850 मीटर जल वितरण पाइप लाइन बिछाकर 60 किलो लीटर क्षमता वाली 12 मीटर ऊंची आरसीसी टंकी के माध्यम से शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। वर्तमान में इस योजना से ग्रामवासियों को 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन के मान से शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो रहा है जिससे बोराई गांव के लोगों में खुशी का माहौल बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *