कैट सी.जी. चैप्टर ने की गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात, आयकर और खाद्य पदार्थ के संबंध में सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़


रायपुर। कॅान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोशी, प्रदेश कार्यकारी महामंत्री परमानन्द जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, एवं प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि देश के सबसे बडे व्यापारिक संगठन कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) सी.जी. चैप्टर के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल अमित शाह, केन्द्रीय गृह मंत्री, भारत सरकार से मुलाकात कर खाद्य पदार्थ के विक्रेताओं और व्यापारियों को आयकर विभाग के संबंध में ज्ञापन सौंपा। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्री बनने के बाद अमित शाह का छत्तीसगढ़ की पावन धरा यह पहला आगमन जिस पर कैट की छत्तीसगढ़ इकाई उनका हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन किया। श्री पारवानी ने आग्रह करते हुए कहा कि भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण नई दिल्ली की थ्वैज्ंब् योजना के तहत समस्त खाद्य कारोबारकर्ताओं को अनिवार्य प्रशिक्षण लिया जाना आवश्यक किया गया है। खाद्य कारोबारकर्ता के अंतर्गत आने वाले ऐसे व्यापारी, जो सीलबंद खाद्य पदार्थो की केवल टे्रडिंग करते है, ऐसे व्यापारियों को अनिवार्य प्रशिक्षण से मुक्त रखा जाये क्योंकि ऐसे व्यापारी ना तो खाद्य पदार्थ का निर्माण करते है, ना ही रीपैक करते है, वे सीधे-सीधे पैक पदार्थ खरीदते है और उसी पैक पदार्थ को उसी रूप में आगे बेच देते है। ऐसे पंजीकृत खाद्य कारोबारियों को अनिवार्य प्रशिक्षण से मुक्त रखा जाये। जिस संबंध में प्राप्त ज्ञापन पर गंभीरता से अवलोन करते हुए अमित शाह ने इस पर हामी भरी। श्री पारवानी ने आगे आग्रह करते हुए कहा कि, अभी देश का व्यापार और उद्योग थोड़ा कठिन दौर से चल रहा है। व्यापार और आयकर दोनों ही एक दूसरे से सीधे तौर पर जुड़े हुए हैं। जितना ज्यादा व्यापार होता है उतना ज्यादा टैक्स सरकार को जाता है और अगर व्यापार में कमी है तो मुनाफे में गिरावट आनी लाजमी है जिससे कर में भी गिरावट आएगी। क्योंकि अभी जो बाजार में गिरावट आयी है जिसके चलते हर व्यापारी वर्ग के व्यापार में गिरावट आयी है। ऐसे में प्रदेश के आयकर विभाग के लिये जो टारगेट सेट किया गया है, उसे युक्ति संगत किया जाना चाहिए, जिससे व्यापारियों को भी व्यापार करने में किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो और व्यापारी अपना आयकर समय पर एवं सही आयकर भर सकें। गृहमंत्री से मुलाकात में कैट सी.जी. चैप्टर के कुछ पदाधिकारी उपस्थित रहे जिनमें अमर पारवानी, जितेन्द्र दोशी, विक्रम सिंहदेव, अजय अग्रवाल, राम मंधान एवं राकेश ओचवानी शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *