लघु, सीमांत किसानों को टोकन प्राथमिकता से जारी करें: कलेक्टर

छत्तीसगढ़


जांजगीर-चांपा। खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में आगामी 15 फरवरी तक धान की खरीदी की जाएगी। कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक ने धान खरीदी केन्द्र प्रभारियों से कहा कि वे लघु और सीमांत किसानों का धान समर्थन मूल्य पर क्रय करने उन्हें प्राथमिकता से टोकन जारी करें। कलेक्टर ने कहा कि धान खरीदी के लिए कम्प्यूटर में गलत प्रविष्टि न हो यह सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष मेंं आज आयोजित सर्मथन मूल्य पर धान खरीदी की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर ने कहा कि सभी पर्यवेक्षक, खाद्य, सहकारिता निरीक्षक और समिति प्रबंधक यह सुनिश्चित करें कि खरीदी केन्द्र में धान बेचने किसान पर्ची, टोकन लेकर स्वयं उपस्थित हों, रिश्तेदारों को न भेजें, धान की गुणवत्ता अच्छी हो और गजरी (मिक्स) धान की खरीदी न हों, तथा जिन किसानों ने अब तक एक भी बार धान नहीं बेचा है, उन किसानों का धान प्राथमिकता से क्रय करने की कार्यवाही हो। खरीदी केन्द्रों के सघन निरीक्षण हेतु टीम गठित:-धान खरीदी कार्य निर्देशों के अनुरूप हो इसके मद्देनजर कलेक्टर ने उपार्जन केन्द्रों का सघन निरीक्षण के लिए पर्यवेक्षक, खाद्य और सहकारिता निरीक्षकों की टीम बनाने के निर्देश खाद्य अधिकारी को दिये। कलेक्टर ने पर्यवेक्षकों को निर्देशित कर कहा कि वे धान खरीदी केन्द्र प्रभारियों की बैठक लें और उन्हें उक्त निर्देशों से अवगत कराते हुए उनका पालन सुनिश्चित करने कहें। कलेक्टर ने कहा कि धान खरीदी हेतु कम्प्यूटर में गलत प्रविष्टि अथवा अन्य अनियमितता पर संबंधित ऑपरेटर के साथ पर्यवेक्षकों को भी इसके लिए जवाबदेह माना जाएगा। उन्होंने संबंधित धान खरीदी केन्द्रों पर विशेष निगरानी की आवश्यकता बताई। उन्होंने टोकन जारी करने विशेष सावधानी बरतने कहा ताकि कोई कोचिंया धान न खपा पाए। 344 किसानों के रकबे में संशोधन-बैठक में कलेक्टर ने बताया कि उनके द्वारा जिले के 344 किसानों के रकबे में सुधार की कार्यवाही करवाई गई है। उन्होंने सभी पर्यवेक्षकों से कहा कि वे अपने क्षेत्र के ऐसे किसान जिनके पंजीयन मे रकबे में वृद्धि हुई है उनका यथाशीघ्र सुधार कर कम्प्यूटर में प्रविष्टि की कार्यवाही करायें। ताकि किसी भी किसान के साथ भेदभाव न हो, वे अपनी उपज समय-सीमा में खरीदी केन्द्र में लाकर बेच सकें। कलेक्टर ने खरीदी केन्द्रों में आवश्यकता के अनुरूप बारदाना प्रदाय करने मांग पत्र में पर्यवेक्षक की अनुशंसा अनिवार्य रूप से कराने कहा। धान के उठाव में तेजी लाएं:- बैठक में कलेक्टर ने बताया कि जिले में अब तक करीब 90 प्रतिशत किसानों का धान क्रय किया जा चुका है। खरीदी केन्द्रों में धान के उठाव की कार्यवाही के संबंध में कलेक्टर ने कहा कि अब तक जिस ट्रांसपोर्टरों को धान उठाव के लिए डी.ओ. और टी.ओ. जारी हो चुका है, वहां शीघ्र उठाव करने ट्रांसपोर्टर को निर्देशित करें। उन्होंने ऐसे ट्रांसपोर्टरों को जो धान के उठाव, परिवहन में हीला-हवाला, विलंब कर रहे हैं, को नोटिस जारी करने कहा। बैठक में खाद्य अधिकारी अमृत कुजूर, सहायक पंजीयक सहकारी समिति श्री राजपूत, जिला विपणन अधिकारी, सहायक खाद्य अधिकारी राजेश जायसवाल, खाद्य सहकारिता निरीक्षक, बैंक सुपरवाईजर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *