तिल्दा नेवरा के प्राइवेट हॉस्पिटल नर्स के भरोसे

छत्तीसगढ़


तिल्दा नेवरा।नगर के अधिकांश हॉस्पिटल भगवान भरोसे चल रही हैं। कुछ हॉस्पिटल में तो गांव की 12 वी कॉलेज लड़कियो को कम सैलरी देकर नर्स बना दिया गया है। पर वहाँ एडमिट होने पर पेसेंट को उनके हरकतों से पता चलता है कि उन्हें कुछ जानकारी नहीं है। वह तो अपनी महीने की 15oo रुपये सैलरी के लिए नर्स का कार्य कर रही हैं। कई हॉस्पिटल में वहाँ कार्यरत कर्मचारियो ने वहाँ कार्यरत नर्स बने लड़कियों को प्रेम जाल में फंसा लिया है।और नाईट ट्यूटी शुरू होने से पहले सेंचुरी सीमेंट गार्डन व खपरी मढ़ी खाली मैदान में घूमते नजर आते हैं। समझ नहीं आता है कि मरीजो की शरीर से खिलवाड़ ये जनरल प्रैक्टिसनर नर्स के हाथों हो रही है। नगर के कई हॉस्पिटल में पेट रोग विशेषज्ञ खुद बर्न की मरीजो की इलाज करते हैं।और मरीज की हालत बिगड़ने पर रायपुर रिफर करदी जाती हैं। कुछ हॉस्पिटल में छोटे बच्चे को एडमिट लेकर रायपुर हॉस्पिटल भेजने का खेल भी नगर में जोरो से चल रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *