खण्डहर में तब्दील होती जा रही नगर पालिका की दुकानें, शासन के पैसों का हो रहा दुरूपयोग…!

छत्तीसगढ़

By।अविनाश वाधवा


तिल्दा नेवरा | तिल्दा नेवरा नगर पालिका के द्वारा निर्मित दुकानों में से अधिकांश दुकानें खण्डहर में तब्दील होती जा रही हैं | जंहा एक तरफ कुछ ही दुकानों का आबंटन किया गया है तो वंही दूसरी तरफ कुछ दुकानों का उपयोग आवास के रूप में किया जा रहा है, तो कुछ दुकानों की हालत जर्जर होती जा रही है | अब यह कहा जा सकता है कि इस तरह से शासन के पैसों का दुरुपयोग हो रहा है | इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक नगर के सुभाष चौक स्थित बुधवारी बाजार में वर्ष 2004-05 में नगर पालिका के द्वारा 55 दुकानों का तथा सासाहोली विश्राम भवन के पास 17 दुकानों का, इस तरह से करीब 27 लाख रूपये की लागत से कुल 72 दुकानों का निर्माण किया गया है | इन दुकानों में से बुधवारी बाजार में 13 और सासाहोली में 2 दुकानों का आबंटन किया गया है, इन दुकानों का मासिक किराया 350 रूपये निर्धारित किया गया है | विभागीय सूत्रों के मुताबिक शेष दुकानों के आबंटन के लिए जिला कलेक्टर के पास प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है | लेकिन अब सवाल यह उठता है कि जब शेष दुकानों के आबंटन के लिए कलेक्टर के पास प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है तो उसमें अब तक क्या कदम उठाये गए है | ऐसा लगता है कि जब तक इन दुकानों की आबंटन की प्रक्रिया पूरी होगी तब तक बहुत देर हो चुकी होगी क्योंकि करीब 15 वर्ष पहले ठेकेदार द्वारा बनाये गए इन दुकानों की हालत अभी इतनी जर्जर है तो उस समय तक दुकानों की हालत क्या होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है | बताया जाता है कि जब दुकानें पूरी तरह से बनकर तैयार हुई तो यह यंहां से गुजरने वाली सड़क से दिखती थी, लेकिन अब यह दुकानें छिप गई है क्योंकि इन दुकानों के सामने खाली जगह पर अवैध कब्जाधारियों ने पक्के दुकान बना लिए है | इन अवैध कब्जाधारियों को कई बार नोटिस दिया गया पर अधिकारियो की मिलीभगत से यह अभियान भी गर्क हो गया इसके बावजूद नगर पालिका के अधिकारीगण अपनी आँखें बंद किये हुए है, इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि शायद नपा के अधिकारी घोर कुम्भकरणीय निद्रा में है, तभी तो नपा की दुकानें इस हालत में है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *