बजरंग पावर को शिवसेना के सामने झुकना पड़ा ड्राईवरो की सभी माँगे हुई पुरी

छत्तीसगढ़

By।अविनाश वाधवा

अंतत: लड़ाई में जीत गरीबो की हुई बजरंग पावर हारा : संतोष यदु

मजदुरो ने जिलाध्यक्ष संतोष यदु को गुलाल लगाकर जीत की बधाई दी

तिल्दा नेवरा । तिल्दा नेवरा टंण्डवा स्थित बजरंग पावर संयंत्र के मेन गेट में छ: दिनो से चल रहे हड़ताल शासन प्रशासन के हस्ताक्षेप के बाद संयंत्र प्रबंधन झुका एवं ड्राईवर आपरेटर कामगारो के सभी वाजिब माँगो को मानते हुए कार्यपालीक दण्डाधिकारी सिंहा , डीएसपी रूपल अग्रवाल , तिल्दा नेवरा थाना प्रभारी शरद चंद्रा , बजरंग पावर एच आर प्रमुख शुक्ला ,एवं युनियन के पदाधिकारियों तथा कर्मचारियो के मध्य खुले मंच में कंपनी गेट पर ही सभी के बीच चर्चा कर सभी जायज माँगो को श्रम नियमों का पालन करते हुए पुरा करने बोला गया जिस पर कंपनी प्रबंधन ने सभी श्रम कानुन का पालन करते हुए दण्डाधिकारी को लिखित में दिया की राज्य शासन श्रम विभाग ने जो गाईड़लाईश नियम जारी किया हैं उसके अंतर्गत सभी आटोमोबाईल कामगारो को वेतन दिया जाएगा तथा अप्रेल में सरकार के द्वारा जो भी रेट निर्धारित किया जाएगा उसमें संयंत्र के तरफ से मासिक वेतन में तिन सौ रूपये संयंत्र के तरफ से बढ़ाने लिखित रूप से दिया गया जिसके बाद सभी कामगारो को सम्मानपुर्वक काम पर लिया गया जिसके बाद सभी कामगार एवं उनके परिवार के चेहरे खिल उठे तथा संतोष यदु जिंदाबाद शिवसेना जिंदाबाद ड्राईवर एकता संगठन जिंदाबाद के नारे लगाते हुए सभी ने एक दुसरे को गुलाल लगाकर बधाई दिया ।
शिवसेना के जिलाध्यक्ष संतोष यदु ने पत्रकारो से चर्चा के दौरान बताया की कंपनी प्रबंधन का अडियल रवैय्या के कारण कामगारो को शोषण का शिकार होना पड़ रहा था संयंत्र में राज्य के श्रम कानुन का पालन किये बिना ही मनमर्जी से कामगारो को कार्य कराया जाता था जिसके खिलाफ आवाज ऊठाने पर हाथ पैर तोड़ने एवं नौकरी से निकालने की धमकी दिया जा रहा था जिसकी शिकायत कामगारो ने मेरे निवास में आकर किया जिसके बाद श्रम कार्यालय में इसकी लिखित शिकायत किया गया लेकिन पेशी में संयंत्र प्रबंधन बार बार चालाकी करते हुए नहीं पहुंचता था जिसके कारण पेशी का डेट बढ़ते चला जा रहा था जिससे परिशान कामगारो ने हड़ताल पर जाने शासन प्रशासन को लिखित में आवेदन देकर 22 फरवरी से संयंत्र के मेन गेट पर परिवार समेत महिला एवं छोटे छोटे बच्चो को साथ में लेकर धरने पर बैठ गये लगातार जब चार दिन शांतिपुर्ण तरिके से धरना देने पर संयंत्र प्रबंधन एवं शासन प्रशासन के द्रारा कोई सुध नहीं लिया गया जिसके बाद पाँचवे दिन कामगारो ने हमारे समर्थन से संयंत्र के दोनों गेटों को बंद कर महिला पुरूष एवं छोटे छोटे बच्चे संयंत्र के गेट में बैठकर प्रदर्शन करने लगे जिससे संयंत्र से माल भरकर एवं संयंत्र में कच्चा माल लेकर आने वाले गाड़ीयो की कई किलोमीटर तक लाईन लग गई
तथा संयंत्र के अन्य विभागो में काम करने वाले कामगारो का भी आना जाना रोक दिया गया जिसके बाद कामगारो को संयंत्र के अंदर ले जाने पुलिस ने आंदोलन कारियो को खदेड़ने की कोशिश किया जिसमें महिलाओं ने संयंत्र के गेट पर बच्चो को गेट पर लेटा दिया एवं खुद लेट गये लेकिन पुलिस के बडे अधिकारियों ने बर्बरता पुर्वक आंदोलन को कुचलने के लिए स्वयं महिलाओ के साथ धक्का मुक्की किया एवं लातो से रौंदाते हुए कई बाहरी कामगारो को संयंत्र के अंदर घुसा दिया जिसमें कई महिलाओं तथा बच्चेो को चोटे आई जिसके बाद भी आंदोलन कारी डटे रहे और अपने माँग के लिए अड़े रहे कई दौर के मान मनौव्वल होते रहा ऊघर महिलाए और उग्र हो गई एवं पुलिस तथा कंपनी प्रबंधन को खरी खोटी सुनाते रही आंदोलन छठवे दिन भी जारी रहाँ दोनो गेटो को बंद कर प्रदर्शन जारी रखा तब जाकर शासन प्रशान ने हस्ताक्षेप कर सभी माँगो को पुरा करवाया जिससे अब सभी कामगारो तथा उनके परिवार में खुशी हैं ।

वही अब लगातार छ: दिनों से बजरंग पावर में जारी बेमियादी हड़ताल समाप्त करने की घोषणा
किया गया धरना प्रदर्शन में प्रमुख रूप से शिवसेना भरतीय कामागार सेना ड्राईवर एकता संगठन ,एवं कामगार शामिल हुए जिनमें प्रमुख रूप से शिवसेना जिलाध्यक्ष संतोष यदु ,जिला महासचिव मनहरण साहु ,सचिव ओमकार वर्मा ,उपाध्यक्ष मुकेश साहु ,मनोहर वर्मा ,शिवचंद निर्मलकर ,ईश्वर निषाद ,डिगेश देवाँगन ,रोहित देवांगन ,रवि यदु ,भाष कुमार सिंहा ,लोकेश कर्ष ,अश्वनी मनहरे ,अजय बंजारे ,कामता साहु ,भुपेन्द्र मानिकपुरी ,सुमित दास ,एवं हजारो ग्रामीणो ने सहयोग दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *