कृषि उपज मंडियों में यदि व्यापारी भुगतान नहीं करेंगे, तो किसानों की कौन सुनेगा : तेजराम विद्रोही

छत्तीसगढ़


राजिम। कृषि उपज मंडी समिति राजिम में किसानों द्वारा बेचे गए उपज का भुगतान नहीं होने से नाराज किसानों का 25 फरवरी से राजिम मंडी में नीलाम बंद कर मंडी गेट के सामने अनिश्चित कालीन धरना चौथे पाँचवे दिन भी जारी रहा ,जो भुगतान प्राप्ति तक जारी रहेगी।
अनिश्चित कालीन मंडी बंद एवं धरना के पाँचवे दिन किसान परिवार की महिलाओं ने बड़ी तादाद में हिस्सा लिया। इस बीच क्षेत्र के सांसद व स्थानीय प्रतिनिधियों के प्रति भारी आक्रोश देखने को मिला जो अब तक किसानों की सुध लेने नहीं आये।


वहीं तेजराम विद्रोही के नेतृत्व में पांच सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल प्रबंध संचालक मंडी बोर्ड रायपुर से कलेक्टर जिला गरियाबंद के पत्र के आधार पर चर्चा करने रायपुर गए हुए थे जहाँ मंडी अधिनियम की धारा 39 के तहत मण्डी निधि से भुगतान प्रदान करने राज्य सरकार से विशेष अनुमति स्वीकृत कराने की बात कही है। किसानों ने कहा है कि मंडी निधि जब तक राशि स्वीकृत कर भुगतान नहीं किया जाता है तब तक मंडी बंद और अनिश्चित कालीन धरना जारी रहेगी।


अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के राज्य सचिव तेजराम विद्रोही ने कहा कि मंडी निधि से भुगतान का कोई प्रावधान नहीं है कहकर अब तक किसानों को गुमराह किया जाता रहा है, जिसकी खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है। मंडी निधि से देने अधिनियम की धारा 39 के तहत आज जो कार्यवाही किया जा रहा है वह अब तक दिए गए ज्ञापनों के ऊपर संज्ञान लेते हुए क्यो नहीं किया गया? किसानों को अपनी राशि पाने मंडी बंद कर अनिश्चित कालीन धरना में बैठने के के लिए शासन प्रशासन के लोग जिम्मेदार हैं साथ ही राज्य सरकार का हिस्सा बने जनप्रतिनिधि भी कोई कम जिम्मेदार नहीं है जिनकी संवेदनहीनता की खामियाजा किसानों और उनके परिवार को भुगतना पड़ रहा है। अनुबंध पत्र के आधार पर मंडी उपज बेचने वाले किसानों को व्यापारी यदि भुगतान नहीं कर सकते हैं तो भुगतान कराने मंडी बोर्ड की क्या जिम्मेदारी बनती है। इसलिए प्रतिनिधि मंडल ने मांग किया है कि यदि वास्तव में मंडी बोर्ड और राज्य सरकार किसानों की हित के साथ खड़ा है तो शीघ्र ही राशि स्वीकृत कर भुगतान करे। प्रतिनिधि मंडल में अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के राज्य सचिव तेजराम विद्रोही, राजधानी प्रभावित किसान संघ के संयोजक रूपन चंद्राकर, सामाजिक कार्यकर्ता वीरेन्द्र पाण्डे, कृषकगण सोमनाथ साहू, कोमल साहू और गोविंद वर्मा शामिल रहे।


वहीं आज के धरना सभा का संचालन अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के उपाध्यक्ष मदन लाल साहू ने किया धरना सभा में श्रीमती देवकुवंर, सावित्री बाई, मेम बाई, लता साहू, सीता बाई, धनेश्वरी, ओमीन बाई, हिरौंदी बाई, ममता, हुमेश्वरी, छलिया बाई, बोधनी, कुमारी बाई, रजीना, लीलाबाई, लुमश राम, ठाकुर राम, धनाजी, दिनेश कुमार, कोमल राम, समारू राम, बिष्णुराम, बलदाऊ ध्रुव, भारत साहू, बंशीराम, बिसाहू राम,फलेश्वर यादव, तिलकराम, होरीलाल, कृष्ण कुमार, दसवंत,संतु, जहुरराम, बाल्मिकी साहू, गिरधर साहू, चुम्मन लाल, अनुज कुमार, रामबगस साहू , घनश्याम साहू, चुम्मन यादव, तुलसीराम साहू, पुरुषोत्तम साहू, भागीरथी साहू, मेहतरु राम, नारायण साहू, रामबगस साहू, दिलीप कुमार,कुबेर साहू, युवराज, लालचन्द साहू, पुसू राम, थानेश्वर आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *