रजक महोत्सव में 10 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

छत्तीसगढ़

By।अविनाश वाधवा


तिल्दा नेवरा। छत्तीसगढ़ धोबी समाज चार राज नव पार का रजक महोत्सव कोटा में संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, समाज के प्रदेश अध्यक्ष सूरज निर्मलकर की अध्यक्षता एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में जिला पंचायत के सदस्य राजू शर्मा, युवा प्रदेश अध्यक्ष अनिल रजक बेमेतरा, प्रादेशिक प्रवक्ता लक्ष्मी कर्ष बिलईगढ़, गंगा निर्मलकर बिलासपुर पार्षद, गीता रजक सरगुजा थे। सभापति के रूप में 4 राज 9 पार के अध्यक्ष चोवाराम रजक थे। इस अवसर पर 10 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे और 32 विवाह योग्य युवतियों और 53 युवकों ने परिचय दिया। जिसमें अभिभावक लोगों के साथ रहने के फल स्वरूप 4 रिश्ते भी तय हो गए। प्रात: 8 बजे से प्रारंभ हुए इस आयोजन में वैवाहिक रीति रिवाजों व आशीर्वाद समारोह एक ही मंच पर हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि गिरीश देवांगन ने कहा कि धोबी समाज भी अब अन्य विकसित समाज की श्रेणी में आने लगा है और आदर्श विवाह करके अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने समाज केंद्रीय अध्यक्ष सभापति की मांग पर कोटा और बहेसर में समाज के भवन के लिए 1000000 रूपया कोई भी राज्यसभा सांसद से दिलवाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि समाज में अब जिला पंचायत सदस्य भी होने लगे हैं अब वह दिन दूर नहीं इस समाज से विधायक, सांसद और मंत्री भी होंगे क्योंकि समाज तेजी से आगे बढ़ रहा है। रजक महोत्सव की अध्यक्षता करते हुए समाज के प्रदेश अध्यक्ष सूरज निर्मलकर ने समाज के लोगों से आदर्श विवाह को ही अपनाने और समाज में विवाह करने का आव्हान किया। खर्चीली शादी से बचे हुए पैसे से अपना आशियाना तैयार करने या फिर घर के बेरोजगार बेटा बेटी को रोजगार दिलाने में उपयोग करने की बात कही जिसका सभी जिला अध्यक्षों और परी क्षेत्रीय अध्यक्षों ने समर्थन किया। युवा प्रदेश अध्यक्ष अनिल रजक ने युवाओं को समाज के आयोजन में बहुत बड़ा हिस्सा बनने पर बधाई दी। पार्षद श्रीमती गीता रजक, प्रदेश अध्यक्ष की धर्मपत्नी रामशिला निर्मलकर ने ढेड़हीन बनकर फुफु दीदी होने की फर्ज अदा की। वहीं कबीरधाम जिलाध्यक्ष स्वदेश निर्मलकर, युवा प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र निर्मलकर, कवर्धा जिला के युवा अध्यक्ष राम कुमार निर्मल कर ढेड़हा की भूमिका अदा की। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री गिरीश देवांगन और समाज के प्रदेश अध्यक्ष सूरज निर्मलकर, महासमुंद जिला के युवा अध्यक्ष उमेश निर्मलकर बाराती की ओर से पगराईत की भूमिका अदा की तो घराती की ओर से जिला पंचायत सदस्य राजू शर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष महेश निर्मलकर और नेवरा पर क्षेत्र के अध्यक्ष चिंतामणि निर्मलकर कोटा परिक्षेत्र के अध्यक्ष अशोक निर्मलकर सद्दू पर क्षेत्र के अध्यक्ष रमेश निर्मलकर मोहदी सारा गांव खोना ना पर क्षेत्र के अध्यक्ष रामखेलावन निर्मलकर विशंभर निर्मलकर ने अगवानी की। इस आदर्श विवाह में पूरा छत्तीसगढिय़ा रस्मों से नियम का पालन किया गया यहां तक के वर के मामा वधू के मामा ससुर के रूप में सिर पर दूर से अंग वस्त्र भेंट करने से नहीं चूके। सभी पक्ष के लोग पहुंचे थे क्योंकि एक ही समाज की बात थी और सब कुछ आसानी से निपट गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *