कोर पीडीएस की जानकारी राशन कार्डधारी को नही…

छत्तीसगढ़

By।अविनाश वाधवा


तिल्दा-नेवरा। तिल्दा नेवरा के शहरी खास करके ग्रामीण अंचल के अधिकांश राशन कार्डधारी कोर पीडीएस सिस्टम क्या है…? यह नहीं जानते हैं। याने की यह कहा जा सकता है कि राज्य शासन ने राशन वितरण प्रणाली को कोर पीडीएस तो कर दिया गया है, लेकिन इसकी जानकारी राशन कार्डधारियों तक नहीं पहुंचने के कारण यह सिस्टम कारगर साबित नही हो पा रही है ऐसा लगता है। जानकारी के अभाव में राशन हितग्राही अपने ही निर्धारित राशन दुकान से खरीदी करते है जबकि कोर पीडीएस के तहत कोई भी राशन कार्डधारी किसी भी उचित मूल्य की दुकान से राशन खरीद सकता है। वर्षों बाद भी कोर पीडीएस सिस्टम शहरी क्षेत्र तक ही सीमित है। उसमें भी हितग्राहियों तक इसकी जानकारी नहीं पहुंचाई जा रही है। इसके चलते राशन कार्डधारी पूर्व निर्धारित उचित मूल्य की दुकान से ही राशन लेने के लिए पहुंचते है। नगरी निकाय के उचित मूल्य की दुकानों को पूरी तरह कोर पीडीएस सिस्टम कर दिया गया है। यहां टैब के जरिये आनलाइन सिस्टम से हितग्रहियों के नाम एंट्री कर राशन प्रदान किया जाता है, लेकिन जानकारी नहीं होने के कारण दो चार फीसदी लोग ही इसका उपयोग कर पा रहे है। वह इसलिए कि खाद्य विभाग और सोसायटी द्वारा लोगों को नहीं दी गई। और अभी भी जानकारी नहीं दी जाती है। कोर पीडीएस आनलाइन सिस्टम पणाली है इसके जरिये कोई भी हितग्राही अपने मूल राशन दुकान के बजाये किसी भी राशन दुकान से राशन खरीद सकता है। हितग्राहियों की जानकारी आनलाइन मौजूद है,इसके चलते जैसे ही टैब से राशन कार्ड नंबर आधार कार्ड नंबर लिखते है तो हितग्राही की पूरी जानकारी सामने आ जाती है। हितग्राही ने राशन कहां से कब लिया, राशन लेने के लिए राशन कार्ड में दर्ज किसाी एक सदस्य का थंब इंप्रेशन (अंगूठे का निशान) लिया जाता है। इसमें राशन कार्ड फोटो लेकर या फिर आधार कार्ड के जरिये भी राशन मिल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *