कोरोना वायरस: धरना-प्रदर्शन स्थगित पर आनलाइन आंदोलन जारी

छत्तीसगढ़


रायपुर। फर्जी चिटफंड कंपनियों से पीडि़त निवेशकों के पूर्ण भुगतान हेतु आंदोलनरत संस्था छत्तीसगढ़ नागरिक अधिकार समिति ने कोरोना संक्रमण के चलते अपने समस्त धरना, प्रदर्शन व आंदोलनात्मक कार्यवाहियों को स्थगित करने का निर्णय लेते हुए आन लाइन आंदोलन जारी करने की घोषणा की है। समिति के अध्यक्ष शुभम साहू ने कहा है कि प्रदेश सरकार द्वारा जारी वायदा खिलाफी के विरोध में समस्त मंत्रियों, सांसदों एवं विधायकों को ऑनलाइन ज्ञापन भेजा जाएगा एवं निवेशकों द्वारा मुख्यमंत्री के नाम पत्र लिखा जायेगा। छग नागरिक अधिकार समिति ने प्रदेश के बजट में इस हेतु विशेष प्रावधान किये जाने की जनप्रिय मांग को न माने जाने पर तीव्र रोष का इजहार करते हुए कहा है कि भूपेश सरकार की हठधर्मिता से 20 लाख निवेशकों को गंभीर निराशा का सामना करना पड़ रहा है। अपने घोषित चुनावी वायदों से पीछे हटानेवाली इस सरकार के खिलाफ आंदोलन उग्र किया जायेगा एवं कोरोना प्रकोप समाप्त होते तक ऑनलाइन माध्यमो से विरोध जारी रहेगा। समिति द्वारा प्रदेश के सवा लाख दैनिक वेतनभोगी, अस्थाई एवं अनियमित कर्मचारियों के नियमितीकरण का वादा पूर्ण न होने पर भी प्रदेश सरकार की आलोचना की गई है। समिति ने मांग की है कि कोरोना के संक्रमण के मद्देनजर प्रदेश की शराब भट्टियों को तत्काल बन्द किया जाये क्योकि सबसे ज्यादा भीड़ यही पर होती है। छग नागरिक अधिकार समिति ने आरोप लगाया है कि एक ओर यह सरकार कोरोना संक्रमण रोकने का ढिंढोरा पीट रही है दूसरी ओर शराब भट्टियों को खुला छोड़ दिया गया है। इससे प्रदेश की करोड़ो जनता का स्वास्थ्य एवं भविष्य असुरक्षित हो गया है। स्पष्ट है कि दारू से होनेवाली कमाई की लालच में यह सरकार अपने ही प्रदेश के निवासियों के जान माल को खतरे में डाल रही है। आज प्रदेश भर में एक ही सवाल पूछा जा रहा है कि स्कूल, कालेज, परीक्षाएं, सिनेमाघर, सार्वजनिक कार्यक्रमो को बंद करने वाला प्रशासन शराब भट्टियों को क्यो नही बंद कर रहा है। समिति द्वारा इन सारे मुद्दों पर जन चेतना निर्मित की जाएगी। इसके अलावा अन्य संगठनों के साथ मिलकर कोरोना से बचाव एवं रोकथाम के उपायों पर जन जागरण अभियान आरम्भ किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *