शराब बिक्री से घरेलू हिंसा बढ़ने की संभावना

छत्तीसगढ़

By।अविनाश वाधवा

शराब बिक्री में सोशल डिटेनसिंग का पालन कैसे होगा, राजू शर्मा

तिल्दा नेवरा।किसान नेता व जिला पंचायत सभापति राजू शर्मा ने कहा है कि सरकार का यह निर्णय की शराब बिक्री आरम्भ की जाएगी।वर्तमान समय में यह निर्णय तर्कसंगत नजर नही आ रहा है, सवाल सोशल डिटेनसिंग का है, उसका पालन कैसे होगा, एक तरफ लोगों का सड़क पर निकलना मना है, और शराब दुकान संचालक कैसे होगा।इस निर्णय से जो अभी कोरोना पर स्थिति नियंत्रण में दिखाई दे रही है। निर्णय से स्थिति को कंट्रोल करना पुलिस के बस की बात नही है। एक तरफ फेक्टरी, दुकान, सिनेमा, मॉल, प्राइवेट आफिस, सरकारी ऑफिस, स्कूल, कॉलेज, ट्रेन, सभी बंद है, तो सिर्फ शराब दुकान खोलने की जल्दबाजी समझ से परे है। लॉक डाउन से मजदूर वर्ग के पास रोजगार का अभाव है, इस स्थिति में शराब चालू करने से उनके घर मे कलह बढ़ सकता है। वे शराब के लिए पैसे कहा से लाएंगे, और इससे घरेलू हिंसा भी बढ़ने की संभावना है, और खासकर महिलाएं घरेलू हिंसा की शिकार ज्यादा होंगी, बेहतर यही होगा कि शराब बंदी का निर्णय स्थायी हो, अभी मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के कुशल प्रशासनिक निर्णय से ही छत्तीसगढ़ में कोरोना की स्थिति देश के सभी राज्यों से बेहतर है।इस बात की प्रशंसा प्रधानमंत्री मोदी ने भी की है, इसके पहले विधानसभा चुनाव के घोषणा पत्र में पूर्ण शराबबंदी का वादा जनता से किया था, साथ ही राजू शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री इस समय साहसिक निर्णय लेकर छत्तीसगढ़ को पूर्ण शराबबंदी की सौगात दे, इससे छत्तीसगढ़ के सर्वहारा वर्ग खुशहाल होंगे और छत्तीसगढ़ प्रगति के नए आयाम की ओर अग्रसर होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *