शिक्षिका ने छात्रों को किया कोरोना जागरूकता पोस्ट

एजुकेशन छत्तीसगढ़

बच्चें पढ़ाई के साथ सीख रहें मास्क बनना पहनना , हाथ धोना

रायपुर। कोरोना वायरस लॉक डाउन में स्कूली बच्चों की छुट्टियों पर शिक्षिका सुनीला फ्रेंकलिन प्राथमिक शाला कचना ने एक अनोखी पहल की है। उन्होंने व्हाट्सएप्प ग्रुप बनाई है। जिसमें वह बच्चों की मनोरंजनात्मक तरीके से पढ़ाई लिखाई के साथ कोरोना वायरस से सम्बन्धित जनजागरूकता मेसेज पोस्ट कर रही है। उन्होंने इस पर वीडियो, ऑडियो तैयार किया है जिसमें बच्चों को घर पर रहने के लिए कहा गया है। मास्क बनाने, हाथों की सफाई अर्थात सेनेटाइज कैसे करना है। हाथ साफ रखने के लिए सेनेटाइजर के अलावा नमक और फिटकरी का उपयोग , कोरोना वायरस का लक्षण, बचाव,आदि से सम्बंधित जानकारी तथा चित्र कार्य आदि दिए जाते है ताकि बच्चे और उनके पालक स्वस्थ ,सुरक्षित रहे और समय- समय पर हाथो को धोने के लिए आग्रह किया है। शिक्षका प्रतिदिन सुबह हर 3 घण्टे में बच्चों के पालकों को हाथ धोने के लिए मेसेज करती है जिसका पालन सभी करते हैं और बताते है कि मैडम हमने हाथ धो लिए है।

सांप सीढ़ी खेल में हाथ धोना, मास्क लगाना,नमस्ते करना


बच्चों को खेल के माध्यम से कोरोना से जागरूक करने के लिए अनोखा सांप सीढ़ी बनाया गया है। इसमेें हाथ धोना , मास्क लगाना,नमस्ते करना आदि पर सीढ़ी चढ़ते है, और घर से बाहर निकला, डॉ के पास नही जाना,मुँह नाक पर हाँथो को लगाना,बुखार आना,सर्दी होना ,हाथ मिलाना आदि पर सांप काट लेगा और नीचे आ जाएंगे।
इस ग्रुप से बच्चे और पालक सभी लाभान्वित हो रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *