डॉ.,पुलिसकर्मियों और सफाईकर्मियों का योगदान स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा

छत्तीसगढ़ राजनिति

जनप्रतिनिधि वोट मांगने के लिए घर- घर जाते थे उसी प्रकार अपने क्षेत्रों के गरीब परिवारों की सहायता करना चाहिए , हरीश लहरे एनएसयूआई छात्र नेता

By। कमलेश पटेल

भाटापारा । कोरोना वायरस के विकराल रूप को देखते हुए पूरे भारत देश को लॉकडाउन किया गया है । इस संबंध में एनएसयूआई छात्र नेता हरीश लहरे ने कहा कि जिस प्रकार जनप्रतिनिधि वोट मांगने के लिए घर- घर जाते थे उसी प्रकार अपने क्षेत्रों में घर घर जाकर गरीब परिवारों की सहायता करना चाहिए । उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, घर पर सुरक्षित रहें और बिना किसी आवश्यकता के बाहर नही निकलने के लिए लोगों से आग्रह किया।
छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश को अभी तक कॅरोना वायरस को नियंत्रित करने में सफलता हासिल किया है,लेकिन हमारा स्पष्ट मत है कि इस वैश्विक महामारी की पूर्ण रोकथाम जागरूकता में निहित है राज्य सरकार अपने अपने स्तर पर इसी तरह मुस्तैद एवं बेहतरीन कार्य के लिए कार्यरत है प्रदेश की जनता से अपील है कि आवश्यक सावधानियों के साथ दिशानिर्देशो का पालन करें । हरीश लहरे ने कहा कि इस विषम परिस्थितियों में छत्तीसगढ़ के हजारों लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में फसे हुए है।
इनमें गरीब और मजदूरो से लेकर कोटा में पढ़ने गए छात्र छात्राओं व अन्य प्रांतो सेे भी है,प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा हमें सबकी चिंता है और हम सही समय पर वापस लाने का इंतजाम करेंगे यह समय लॉकडाउन के पालन का है ,छत्तीसगढ़ सरकार ने आदेशानुसार प्रदेश के हर जिले कलेक्टर को निर्देश दिये है कि दूसरे प्रदेशों में फॅसे लोगों की सूची बनाय इससे समय पर सभी की सहायता के इंतजाम करने की सुविधा होगी जनप्रतिनिधियों से निवेदन है के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सहायता कर रहे सज्जन व्यक्तियों,डॉक्टरो ,पुलिसकर्मियों और सफाईकर्मियों को धन्यवाद करते हुए कहा कि आप सभी का यह योगदान स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा भविष्य में लोग आपके कार्यो को याद करके गर्व करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *