श्रमिकों को स्पेशल ट्रेन चलाकर वापस लाया जाए : राजू शर्मा

छत्तीसगढ़ राजनिति

तिल्दा नेवरा।करोना महामारी के चलते लॉक डाउन में फंसे मजदूरो के लिए केंद्र सरकार की गाइड लाइन अनुसार सभी मजदूरो को प्रदेश वापसी का रास्ता साफ़ हो गह है , इसी तरह तिल्दा विकास खंड के मजदूर भी अन्य प्रदेशो में फंसे हुए है, जिस प्रकार से राजस्थान के कोटा में फसे छात्रो का संज्ञान में लेकर वापस मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वापस लाया है, जिला पंचायत सदस्य व सभापति राजू शर्मा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व श्रम मंत्री शिव डहरिया से दूरभाष पर बात कर, तिल्दा विकास खंड के मजदुर जो अन्य राज्यों में फंसे हुए है उन्हें वापस लाने की मांग की है। वर्तमान में तिल्दा विकास खंड के ग्राम असौन्दा से 2 मजदूर पुणे में , 1 लोग सताभावा से कटक में, 4 लोग देवरी से पुणे में ,चाम्पा से 1 कानपूर में ,३ हैदराबाद में , 2 नागपुर में ,तुलसी नेवरा से 3 लोग पूना में, 2 लोग मन्मद्दा (महा) में, 1 सलिकासा गोंदिया में, बेलटुकरी से 2 ढेंकनाल उड़ीसा, 6 लोग वर्धा में, सरारीडीह से 2 लोग सहारनपुर में , जलसों,टोहडा, खुडमुडी, नकटी कुम्हारी, भिलौनी से मान्झाल्पुर गुजरात में 11 लोग, रजिया से पुणे, अहमदनगर, लखनऊ, नॉएडा में 14 लोग इसी तरह अन्य ग्रामो से करीब 2000 मजदुर अन्यत्र फंसे हुए है। करोना महामारी के चलते सभी जगह उनके लिए काम बंद है, मजदूरी भी नहीं मिल रही है, उनके पास भोजन के समस्या है ,और वे अमानवीय स्थिति में रह रहे है।वे अपने राज्य वापस लौटना चाहते है , लेकिन परिवहन के सारे साधन बंद होने की दशा में वापस नहीं आ पा रहे है ।,ऐसी परिस्थिति में उनका वापस लाना ही उनके लिए बेहतर होगा, उन्हें उनके हाल पर छोड़ा नहीं जा सकता , राजू शर्मा ने कहा है वैसे ही इन लोगो के लिए विभिन्न जगहों से स्पेशल ट्रेन चलाकर इन्हे वापस लाया जाए. इनके वापसी के इंतजाम नहीं होने से ये लोग पैदल चलकर वापस अपने गाव पहुच रहे है, आस अभी एक तरफ तो लोगो को विदेश से हवाई जहाज से वापस लाया जा रहा है, स्पेशल बसों से छात्रो को वापस लाया गया, एक तरफ देश मजदुर दिवस मन रहा है और इन मजदूरो की यह दुर्दशा समझ से परे है , और वे इस महामारी के चलते बेहाली की हालत में जहा तहा फसे है, राजू शर्मा ने कहा की सभी श्रमिको का देश के निर्माण उद्योग में एक प्रमुख स्थान है, ऐसे में उनकी सुध न लेना समझ से परे है , इसी तरह ही छत्तीसगढ़ की 12 लडकिया गुजरात के बडौदा में सरकार की योजना कौशल विकाश योजना के तहत सरकार ने उन्हें भेजा है, और उनका पास अभी काम नही होने से वेतन भी नहीं मिल रहा है, उनके पास पैसे नहीं होने के कारण रहने और भोजन में बहुत ही कठिनाई का सामना करना पड रहा है, कुछ लडकिया बीमार भी हो गई थे, ये लडकियों ने छत्तीसगढ़ हेल्प लाइन से में भी फ़ोन कर मदद मांगी थी, लेकिन इनकी आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई है, इन लडकियों ने विडिओ सन्देश के माध्यम से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री व सरकार से इस आशय की अपील की है, इन्हें भी तत्काल वापस लाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *