शराब तुंहर दुआर अमानवीय निर्णय – रिजवी

छत्तीसगढ़ राजनिति

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख, मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष व वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा लाकडाऊन में स्कूली बच्चों की हौसला आफजाई के लिए आनलाईन ई लर्निंग वेबसाइट प्रारंभ करने को स्वागतेय बताया है तथा पढ़ई तुंहर दुआर के साथ-साथ शराब बिक्री की घर पहुंच सेवा प्रारंभ कर सरकार ने शराब तुंहर दुआर की घर पहुंच सेवा से यह सिद्ध कर दिया है कि भाजपा की भांति कांग्रेस सरकार भी आबकारी विभाग से प्राप्त आय के चकाचैंध में आकर अपने संकल्प पत्र के वादों को पूरा करने से कतरा रही है। लाकडाऊन के बाद के अवसर का लाभ लेकर सरकार इस कुप्रथा को बंद कर सकती थी। ऐसा उपयुक्त अवसर का फायदा न उठाकर सरकार ने यह सिद्ध कर दिया है कि प्रदेश सरकार शराबबंदी के पक्ष में न थी, न है और न रहेगी।

          रिजवी ने सरकार के शराब बिक्री लागू करने की कटु आलोचना करते हुये कहा है कि प्रदेश में सभी प्रकार के कल-कारखाने व अन्य कारोबार लगभग बंद है, आमदनी के साधन नहीं है, ऐसे में समाज व महिला वर्ग को कठिन दौर से गुजरना पड़ेगा। काम न मिलने व आमदनी न होने के कारण पैसे के अभाव में शराबी लोग अपनी माँ, बहनों के गहनों को बेचकर अथवा पैसे के अभाव में अपने घर के कीमती सामान को बेचकर अपनी शराब की लत को शांत करेंगे जो अमानवीय कृत्य होगा। क्या ऐसी स्थिति निर्मित होने के लिये पूर्णरूप से जिम्मेदार प्रदेश सरकार होगी? यह सरकार के लिये आत्म मंथन का विषय होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *