नर्स डे: इंजेक्शन से डरने वाली बेटियां भावी नर्स …

छत्तीसगढ़

जशपुर। इंजेक्शन का नाम सुनते ही लोगों में ख़ौफ़ पैदा हो जाता है। कहते है डर के आगे जीत है, कभी इंजेक्शन से घबराने वाली बेटियां नेहा नायक मरीजों को इंजेक्शन लगाकर साहस का परिचय दे रही। उनके द्वारा मरीजों को स्वास्थ्य लाभ मिल रहा है ,फिलहाल वो नर्सिंग के तृतीय सेमेस्टर में है। ट्रेनिंग के बाद वह आगे भी चिकित्सा के फील्ड में कार्य करेंगी। ट्रेंनिग के दौरान थेवरी के साथ प्रैक्टिकल भी कर रहीं जिसका लाभ उनको मिल रहा है। प्रैक्टिकल के लिए वह शासकीय अस्पतालों में जाती है। प्रतिदिन नए मरीजों के व्यवहारिक ज्ञान के साथ ही अध्ययन कर अनुभवी नर्सों के मार्गदर्शन में इलाज करती है। नेहा ने बताया कि जीवन में स्वास्थ धन ही मुख्य धन है। वह सेवाभाव के उद्देश्यों से नर्स की ट्रेंनिग कर रही है। वह जल्द ट्रेंनिग खत्म कर किसी चिकित्सालय में अपनी सेवाएं देंगी। नर्स डे के मौके पर मंगलवार को उन्होंने तमाम नर्सों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी ।

बेटियां ने कोरोना वारियर्स के तौर पर की फर्ज अदा

कोविद -19 के इस मुश्किल दौर में कोरोना वारियर्स के तौर पर नर्सों ने अपना योगदान दिया है । इसी क्रम में कोरोना वारियर्स के रुप में नेहा नायक भावी नर्स ने भी अपना फर्ज अदा किया है। उन्होंने बाशिन्दों के बीच जाकर कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही हाथों को बार-बार साबुन से धोने के लिए प्रेरित किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *