नमक की काला बाजारी श्रमिक एवं आदिवासी क्षेत्रों में 100 रु.पैकेट में भी नमक नहीं मिल रहा है: छ.स.पा

छत्तीसगढ़ राजनिति

रायपर।छत्तीसगढ़ राज्य आंदोलनकारी छ. स.पा.,छबेस,किसान मोर्चा के प्रदेश नेता अनिल दुबे ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के लॉक डाउन में छोटी-छोटी आवश्यक वस्तुएं शोषक वर्ग के द्वारा षड्यंत्र पूर्वक महंगा कर दिया गया है।जिसमें नमक,दाल प्रमुख है जिसकी कीमत 10 गुना ज्यादा वसूली की जा रही है।आदिवासी ग्रामीण क्षेत्र महासमुंद जिला,गरियाबंद जिला,कवर्धा जिला से लगातार शिकायत दर्ज कराई जा रही है।जिसमें नमक 100 रु.में भी उपलब्ध नहीं है और एक पैकेट को 2 पैकेट बनाकर बेचा जा रहा है।उसी प्रकार राहर दाल 120 रु.बेचा जा रहा है।सरकार नमक उपलब्ध कराने में नाकाम हुई है।मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन को राज्य आंदोलनकारी अनिल दुबे ने पत्र लिखकर समस्या से अवगत कराया है और खाद्य सामग्री भेजने की मांग है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *