किसानों को ₹25000 देने की बात घोषणा पत्र में की थी :अनिल पांडे

छत्तीसगढ़ राजनिति

किसान अपना हक मांग रहा भीख नहीं

सिमगा ।भारतीय जनता पार्टी छत्तीसगढ़ प्रदेश किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष अनिल पांडे ने भूपेश सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा जो सरकार आज छत्तीसगढ़ प्रदेश में किसानों की वजह से बनी है आज किसानों से झूठे वादे करके किसानों को धोखा दे रही है। श्री पांडे ने कहा कि जब तक कांग्रेस सत्ता में नहीं आई थी तब तक वह हर वर्ग को सिर्फ और सिर्फ प्रलोभन देने का काम कर रही थी और इसकी वास्तविकता धीरे-धीरे जनता के सामने आने लगी है। प्रदेश सरकार ने किसानों को पूर्ण रूप से कर्ज माफी की बात की ।आज भी कई नेशनलाइज बैंक में किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ दूसरा जो सबसे बड़ा वादा कांग्रेस में अपने जन घोषणा पत्र में किसानों के लिए किया था। वह 2 वर्ष का बोनस 25 सौ रुपए में किसानों की धान खरीदी लेकिन प्रदेश सरकार बनते ही कांग्रेस अपने वादे से मुकर गई ।आज किसान को धान बेचे काफी समय हो गया है और एक आस लगाकर प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल की तरफ देख रहे हैं कि जो अंतर की राशि है ₹685 प्रति क्विंटल किसानों को बहुत जल्दी कांग्रेस की सरकार देगी। मुख्यमंत्री बघेल के द्वारा बड़े-बड़े होर्डिंग लगाकर या विज्ञापन छपवाया की 25 ₹100 प्रति क्विंटल के हिसाब से हमने किसानों का धान खरीदा है ।अपने बजट में इनका वन शो करो रुपए का प्रावधान किया है ताकि किसानों को ₹685 प्रति क्विंटल के हिसाब से अंतर की राशि दी जा सके।

श्री पांडे ने कहा एक तरफ किसान कांग्रेस की सरकार के घोषणा को सर आंखों पर रखकर वह उस अंतर की राशि के लिए बैठे हुए हैं दूसरी तरफ प्रदेश के मुखिया एवं कृषि मंत्री रविंद्र चौबे के द्वारा यह कहा जाता है कि जो अंतर की राशि है उसे हम किसानों को दो किस्त में देंगे फिर मुख्यमंत्री बघेल का बयान आता है कि अब हम किसानों को चार किस्तों में बोनस की राशि देंगे। श्री पांडे ने मुख्यमंत्री बघेल से यह आग्रह किया है ।छत्तीसगढ़ को धान का कटोरा के रूप में जाना जाता है छत्तीसगढ़ के किसान आपको भरपूर समर्थन देकर इस प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाएं हैं। और आपके द्वारा ₹ 685 रुपए की राशि को चार किस्त में देने की बात की जा रही है, क्या आप छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ अन्याय नहीं कर रहे हैं ।यह सोचने का विषय है छत्तीसगढ़ की भोली-भाली जनता कांग्रेस के झूठे जन घोषणा पत्र की बातों में आकर भारी बहुमत से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार तो बना दी लेकिन कांग्रेस के कथनी और करनी में जमीन आसमान का फर्क है।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के द्वारा किसानों को इमानदारी से बोनस की राशि दी गई और छत्तीसगढ़ के किसान आपके झूठे वादे में आकर बहुत बड़ा धोखा खा चुकी है। आपके द्वारा किसानों के साथ अन्याय किया जा रहा है ।जब आपने बजट में इनका 1:00 सौ करोड़ रुपए का प्रावधान किया है तो फिर किसानों को किस्तों में पैसा देना समझ से परे है। छत्तीसगढ़ की भोली-भाली जनता आप के बहकावे में मुख्यमंत्री एक बार आ गई बार-बार नहीं आएगी। छत्तीसगढ़ के किसान अगर आप की सरकार को बनाना जानते हैं तो आप की सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प भी यही छत्तीसगढ़ के किसान करेंगे ।आप किसानों की अहमियत को समझ नहीं रहे हैं आप किसानों के साथ धोखा कर रहे हैं अगर आपको पैसा देना ही है।

एक मुश्त राशि देकर आप किसानों की पीड़ा को समझने का प्रयास करते हैं लेकिन आपके द्वारा ना तो 2 वर्ष का बोनस किसानों को दिया गया और ना ही ₹685 की अंतर की राशि जवाब दें देने की बात कही कभी एक किस्तों में कभी दो किस्तों में अब चार किस समय ऐसा ना हो कि देने के पहले आप यह बोल दे कि अभी प्रदेश करोना वायरस से जूझ रहा है अभी प्रदेश सरकार किसानों को अंतर की राशि नहीं दे सकती। यह भी आपके द्वारा कहा जा सकता है। किसान अपने आप को ठगा महसूस कर रहे हैं मुख्यमंत्री बघेल आपको किसानों की पीड़ा समझनी चाहिए । आपके द्वारा किए गए लोक लुभावने वादों को पूरा करना चाहिए ।भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के सभी कार्यकर्ता आपको पत्र के माध्यम से यह मांग करेंगे कि किसान अपनी उपज का उचित मूल्य मांग रहा है ।आपसे अनुदान नहीं मांग रहा है और आप ने किसानों को ₹25000 देने की बात अपने जन घोषणा पत्र में की थी किसान अपना हक मांग रहा है ।आपसे भीख नहीं मांग रहा है। श्री पाण्डेय ने मुख्यमंत्री को इस बात के लिए आगाह किया है कि अगर छत्तीसगढ़ के किसान को सड़क में आने पर आप मजबूर मत करें किसान खेत में काम करते हुए अच्छे लगते हैं। किसानों को धरना प्रदर्शन के लिए प्रेरित मत करें। आपने जो वादा किसानों के साथ किया है उसे पूरा करें नहीं तो भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के समस्त कार्यकर्ता उग्र आंदोलन करेंगे और किसानों को उनका अधिकार दिलाने का प्रयास करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *