जनरल प्रमोशन बोनस अंक को लेकर छात्रो में भ्रम फैला रही ए.बी.व्ही.पी

छत्तीसगढ़ राजनिति

by। अविनाश वाधवा

रायपुर । भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन छत्तीसगढ़ की ओर से प्रेस विज्ञप्ति जारी कर प्रदेश सचिव विवेक यदु ने कहाँ की छात्रो में एनएसयूआई की बढ़ती लोकप्रियता एबीवीपी को रास नही आ रही हैं। एबीवीपी निरंतर छात्रों के बीच अपने झूठे तथ्यों को रख रही हैं। एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने मुख्यमंत्री से जनरल प्रमोशन बोनस को लेकर मुलाकात की थी।

एनएसयूआई की मांग है कि स्नातक शिक्षा में प्रथम एवं द्वितीय वर्षो के छत्रों को जनरल प्रमोशन दिया जाए। जिन विद्यार्थियों की परीक्षा सेमेस्टर वार होती हैं उन्हें भी प्रथम व द्वितीय वर्ष के विषम सेमेस्टर में जनरल प्रमोशन दिया जाएं।

तृतीय वर्ष में अध्ययनरत छात्रों को परीक्षा में बोनस अंक देने की मांग की गई हैं।

हमारी मांग छात्रो के भविष्य को ध्यान में रखते हुए हैं, जिससे किसी भी छात्र की डिग्री पर असर नही पड़ेगा, सरकार से एनएसयूआई ने नव प्रणाली बनाकर आधारगत जनरल प्रमोशन देने की मांग की हैं।

चिकित्सीय, तकनीकी और पेशेवर शिक्षा का अध्ययन कर रहे छात्रों को शिक्षा नीति में राहत देने की बात की गई हैं ना कि जनरल प्रमोशन।

अपने अध्ययनगगत महाविद्यालय और विश्विद्यालय से विपरीत जिलों और प्रदेशो में निवासरत छात्र इस माहामारी मे कैसे यात्रा करेगा। हॉस्टल और पीजी पर रहने वाले छात्र भी अपने घर जा चुके हैं छात्रो द्वारा बात सामने आई है कि उनके पुस्तके होस्टल, पीजी में ही छूट गयी हैं तो वह अध्ययन कैसे करें। रही बात तो 15 सालो के कुशासन में बिगड़ी शिक्षा व्यवस्था में सुधार आना शुरू हो चुका था कि पर इस माहामारी ने अपने कदम रख दिए छात्रो के लिए ऑनलाइन पोर्टल प्रारंभ हुई हैं पर कुछ छात्रो के लिए विभिन्न कारणों से अध्ययन करना असंभव हो गया है।

यह बात कोई जानता है कि एक छात्र परीक्षाओं की तैयारी किस प्रकार करता हैं और यह समय पूर्णता से परीक्षा के लिए संभव नही हैं।

जिनके पास आवाजाही का साधन नही जिन छात्रों के पास निज वाहन नही वह क्या करेंगे, छत्तीसगढ़ में कई प्रदेशों के छात्र अध्ययन करते है जो कि लॉकडाउन के चलते अपने घर का चुके हैं और अनुमानित देश मे प्रतिदिन हज़ार से डेढ़ हजार मामले सामने आ रहे हैं ऐसी दुर्गम स्तिथि में छात्रो को परीक्षाओं ने नाम पर छात्रो को लॉकडाउन तोड़ आवाजाही के लिए उकसाना जानलेवा हो सकता हैं इससे संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ जाएगा।

अध्यक्ष आकाश शर्मा ने आरोप लगाया हैं कि राजनीतिक सुर्खियों में आने के लिए एबीवीपी इस प्रकार की हरकत कर रही हैं। झूट फैलाने का काम तो इनकी विचारधारा में ही हैं। एनएसयूआई छात्रो के हर कदम साथ हैं और जनरल प्रमोशन से किसी भी छात्र के भविष्य पर दुष्प्रभाव नही पड़ेगा।

यू.जी.सी द्वारा जारी दिशा निर्देशों में परीक्षाओं एवं नए सत्र को प्रारंभ करने का उल्लेख हैं परंतु बिन तैयारी किस बात की परीक्षा देंगे छात्र।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *