सेतगंगा परिक्षेत्र मे बिजली की आपूर्ति चरमराई

छत्तीसगढ़

:- अक्षय लहरे/सोनू

सेतगंगा- छ.ग. में बिजली सरप्लस होने के बावजूद सेतगंगा फास्टरपुर परीक्षेत्र में बिजली कि आपूर्ति की व्यवस्था चरमरा गयी है इसके उपरांत अघोषित बिजली कटौती कि जा रही है इससे लोगो की नींद उड गयी है। गर्मी के दिनो में भी बरसात के समान हो रही रूक-रूक के वर्षा के कारण उमस व गर्मी से लोगो को राहत नहीं मिल पा रही है । सेतगंगा फास्टरपुर परिक्षेत्र में बिजली दिन में 15-20 बार एवं रात्री में 2-3 बार अघोषित कटौती कि जाती है। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश है। गर्मी के दिनों में नालियो की नियमित सफाई नही होने के कारण व घर के आस-पास गंदगी के कारण मच्छरों का प्रकोप दिन ब दिन बड़ते जा रहे है। वही सांप और बिच्छु का भी भय बना रहता है। बिजली विभाग के उदासीनता के कारण सेतगंगा परिक्षेत्र में अघोषित बिजली कटौती से लोग हलाकान व परेशान है। राज्य शासन द्वारा बरसात के पूर्व बिजली मेंटनेस के नाम से बड़े पैमाने पे राशि आंबटित की जाती है। उसके बाद भी सेतगंगा में स्थापित सबस्टेशन में लगे उपकरण पूरे कण्डम हो चुके है। जिसके चलते केन्द्र में पांचो फिडर को डारेक्ट कनेक्शन कर दी गई है। हल्की आंधी व बारीस में बिजली आपूर्ती बंद कर दी जाती है। रात्रि 9-10 बजे बिजली बंद होने के बाद क्षेत्र में पदस्थ अधिकारी एवं लाईनमेंनो से सम्पर्क करने पर उनका मोबाईल हमेशा बंद रहता है। और कही इस्तफाक से मोबाईल से सम्पर्क भी हो गया तो उनके द्वारा संतोषपद जवाब नही दी जाती है। सेतगंगा फास्टरपुर में लगभग 10-12 साल से कनिष्ठ यंत्री कार्यालय स्थापना की गई है जो भगवान भरोसे संचालित है। यहॉ कनिष्ठ यंत्री ………………..
ज्ञात हो कि सबस्टेशन फास्टरपुर सेतगंगा को 5 फिडर-सेतगंगा, पौनी, माराडबरी, फास्टरपुर, मौहार। सबस्टेशन सेतगंगा के अंतर्गत 55-60 गांवो में बिजली आपूर्ति की जाति है। हल्की आंधी व तूफान में सबस्टेशन में लगे बिजली उपकरण कंडम हो जाने के कारण आऐदिन अघोषित बिजली कटौती एवं लो वोल्टेज की समस्या से लोग परेशान व हलाकान है। बिजली बंद होने से सबसे अधिक नुकशान मोबाईल शॉप, इलेक्ट्रीकल्स, आटा चक्की, धान मील, डेयरी के संचालको को नुकसान सहना पड रहा है। सबस्टेशन सेतगंगा एवं विघुत मंडल मुंगेली जिला अधिकारीयों से इस संदर्भ में चर्चा करने पर उनके द्वारा केवल कोरा आश्वासन दिया जाता है। बिजली के बंद होने से लोगो के सामने पेयजल कि संकट विकराल होती जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश हेंड पंपों में मोटर लगा दिया गया है। बिजली बंद होने से मोटर नहीं चल पाता अनेक लोग बिजली बंद होने से दुरदराज से पानी ला कर पीने के लिए उपयोग में लाते है। प्रतिवर्ष शासन की तरफ से बिजली की मेंटनेंस के लिए लाखों रूपये खर्च की जाती है। विगत एक सप्ताह से दिन में 15-20 बार और रात्री 2-3 बार बिजली बंद कर दी जाती है। जिससे बिजली विभाग की पोल खोद दी है। जनपद सदस्य लोचन टोण्डर, ग्राम पंचायत सेतगंगा सरपंच जय देवांगन, ग्राम पंचायत सिल्ली सरपंच दिनेश पात्रे, ग्राम पंचायत बीजातराई सरपंच प्रतिनिधी मनोहर गबेल, ग्राम पंचायत नागोपहरी सरपंच गणेश राम अंचल, ग्राम पंचायत विचारपुर सरपंच राजू बारमते, ग्राम पंचायत सरपंच रामप्रसाद ग्रामवासी डॉ. रामजी शर्मा महंत राधेश्याम दास, नारायण शर्मा, हीरासिंह कश्यप, अनिष सेमुअल मसीह, अर्पण जान बेंजामीन, प्रवीण दास, दाताराम गबेल, हेमंत आहिरे, नरेन्द्र जायसवाल, संतोष देवांगन, ध्वजाराम यादव, रायसिंग गबेल, रघ्घु सिंह ठाकुर, अखिल टोण्डर, मोती टोण्डर, रमेश सिंह ठाकुर, उमाशंकर देवांगन, पोषागी देवांगन, निरंजन टोण्डर, राजू सोनी, जितेन्द्र शर्मा, सुनिल चौहान, प्रमोद सोनी ने आक्रेश व्यक्त करते हुये कहॉ है की विद्युत विभाग के लापारवाही से ही लाईन में खराबी आती है। उन्हे जल्दी खराब होने वाले उपकरण (सामाग्री) का पहले से खयाल रखना चाहिए। संचालित विद्युत उपकेन्द्र एवं क्षेत्र मे न जाने कितने वर्ष पुराने तार व अन्य उपकरण लगे है ये आये दिन खराब होते रहते है इसे समय रहते ही बदल देना चाहिए ग्रामीणो ने बताया की तालाम में स्थित ट्रांसफार्मर में न ही सर्किट बाक्स लगा है इसे सिधे तार से जोड दिया गया है। यह भी खुले रूप में इसकी जमीन से उचांई मात्र 2-3 फिट है इससे 4-5 साल का कोई भी बच्चा या जानवर आसानी से चपेट मे आ सकता है।
ग्राम पंचायत विचारपुर सरपंच राजू बारमते 9617708001 कनिष्ठ यंत्री छ.ग. रा. वि. वि. कम्पनी मर्या. फास्टरपुर 9171884216
.ग्राम पंचायत सेतगंगा सरपंच जय देवांगन 9981615616
ग्राम पंचायत सरपंच सिल्ली दिनेश पात्रे 8823861588

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *