पढ़ई तुंहर दुआर के संबंध में कार्यशाला आयोजित

एजुकेशन छत्तीसगढ़

जिला पंचायत अध्यक्ष श्री निराकार पटेल की अध्यक्षता में आज ‘पढ़ाई तुंहर दुआर ‘ के क्रियान्वयन में आ रही परेशानियों एवं समस्याओं के निराकरण तथा कार्यक्रम के बेहतर संचालन के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस मौके पर जिला पंचायत रायगढ़ की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी उपस्थित रही।

कार्यशाला के प्रारंभ में पढ़ई तुंहर दुआर के लिए छ.ग.स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा लांच किए गए वेबसाईट cgschool.in में बच्चों द्वारा उपयोग किये जाने के लिए उपलब्ध सामग्री  एवं उनका उपयोग करने के संबंध में विस्तार से बताया गया। पढ़ई तुंहर दुआर के अंतर्गत वेबसाईट में रायगढ़ जिले के शिक्षक पंजीयन, छात्र पंजीयन, वर्चुअल क्लास निर्माण की स्थिति, वर्चुअल क्लास की सक्रियता, गृहकार्य शंका समाधान के संबंध में अभी तक प्रगति की जानकारी समस्त सदस्यों को किया गया। कार्यशाला के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष श्री निराकार पटेल द्वारा प्रधान पाठक श्री आरिफ हुसैन सिद्धिकी प्राथमिक शाला कूमा को डाईट धरमजयगढ़ प्रतिनियुक्ति से वापस कर उनके मूल शाला में वापस करने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए गये। साथ ही पालकों एवं बच्चों को प्रेरित कर वेबसाईट का ज्यादा से ज्यादा लाभ लेने हेतु प्रेरित करने के लिए अध्यक्ष शाला प्रबंधन समिति को सक्रिय करने हेतु निर्देशित किया गया।
जिला पंचायत अध्यक्ष श्री निराकार पटेल एवं शिक्षा समिति अध्यक्ष श्री रोहिणी राठिया द्वारा अधिकतम बच्चों को ऑनलाईन कक्षाओं में शामिल कराने हेतु नोडल अधिकारियों को निर्देश दिए गये। पूर्व जिला पंचायत सदस्य एवं शिक्षा समिति सदस्य श्री दिलीप पाण्डेय द्वारा कोरोना काल में शिक्षा पर आ रही चुनौतियों के संबंध में विस्तृत चर्चा की एवं लॉकडाउन हटने के पश्चात संस्थागत पढ़ाई के लिए स्कूलों को किस तरीके से तैयार रहना है इस संबंध में विस्तृत योजना बतायी। इस मौके पर धरमजयगढ़ विधायक श्री लालजीत सिंह राठिया ने बच्चों को ज्यादा से ज्यादा शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु कार्ययोजना बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी ने विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों एवं नोडल अधिकारियों से सत्र 2019-20 में अध्ययनरत बच्चों की विस्तृत जानकारी लेकर इनके संबंध में मोबाइल फोन उपलब्ध एवं अनुपलब्ध बच्चों की संख्या एवं नेटवर्क कवरेज क्षेत्र में आने वाले बच्चों की संख्या एवं न आने वाले बच्चों की संख्या की समीक्षा की। उन्होंने जिले में चल रहे ऑनलाईन कक्षाओं पर संतोष व्यक्त करते हुए छात्रों को अधिकतम रूप से वेबसाईट उपयोग करने एवं हर दिन संचालित ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल हो रहे बच्चों की संख्या कक्षावार जानकारी प्रतिदिन जिला कार्यालय को विकासखण्ड से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने ऑनलाइन कक्षाओं में अध्यापन करा रहे शिक्षकों के लिए मासिक कार्यक्रम तय कर जिला कार्यालय को उपलब्ध कराने विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए।

सुश्री चौधरी ने बच्चों को अधिकाधिक रूप से ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल होने वेबसाइट के उपयोग करने गृह कार्य करने जैसे कार्यों को सिखाने हेतु शिक्षकों के निवासरत ग्राम के शासकीय शाला को बच्चों को सिखाने हेतु लक्ष्य देने, अध्यापन करने वाले शिक्षकों को पाठ्यक्रम उपलब्ध कराने हेतु माध्यमिक एवं प्राथमिक शालाओं के लिए विकासखण्ड स्तरीय पीएलसी एवं हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी के लिए जिला स्तरीय पीएलसी गठन करने के भी निर्देश दिए साथ ही पालकों को मोबाइल की उपलब्धता बच्चों को कराने के लिए जागरूकता लाने हेतु शाला प्रबंध समिति अध्यक्ष एवं स्थानीय शिक्षक को लक्ष्य देने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्री मनीन्द्र श्रीवास्तव, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री राजेन्द्र गुप्ता, जिला मिशन समन्वयक श्री रमेश कुमार देवांगन, सहायक संचालक श्री के.के.स्वर्णकार, श्री भुवनेश्वर पटेल, श्री भूपेन्द्र कुमार पटेल, रामकुमार चौहान एवं सभी विकासखण्डों के विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी एवं नोडल अधिकारी उपस्थित थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *