गायत्री परिवार ने किया महायज्ञ

Uncategorized

यज्ञ का मुख्य उद्देश्य पर्यावरण संवर्धन एवं राष्ट्र निर्माण, एवं कोरोना वायरस से रक्षा करना

छत्तीसगढ़ में 3 लाख से अधिक घरों में यज्ञ संपन्न

रायपुर । अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वाधान में गायत्री जयंती एवं गंगा दशहरा के 1 दिन पूर्व रविवार 31 मई को भारत के साथ कई देशों में गृहे गृहे गायत्री यज्ञ उत्साहमय वातावरण में संपन्न हुआ।

यज्ञ का मुख्य उद्देश्य पर्यावरण संवर्धन एवं संरक्षण, वातावरण का परिशोधन, समर्थ राष्ट्र निर्माण, वैचारिक उत्कृष्टता, समाज में छाई विकृतियों को नष्ट करना,सत्प्रवृत्तियों का संवर्धन, एवं कोरोना वायरस के महामारी से रक्षा करना रहा। इस यज्ञ से यज्ञ स्थल के आसपास का संपूर्ण वातावरण शुद्ध हुआ।

छत्तीसगढ़ जोन समन्वयक दिलीप पाणीग्रही ने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य में भी यह यज्ञ 3 लाख से अधिक घरों में संपन्न हुआ। कोरोना महामारी के कारण इस वर्ष यह आयोजन के लिए पूर्व से ही वीडियो के माध्यम से परिजनों को प्रशिक्षित कर दिया गया था साथ ही यज्ञ का ऑडियो भी जारी किया गया था, जिसे व्हाट्सएप के माध्यम से सभी परिजनों को उपलब्ध कराया गया। इसे ही देखकर सभी ने अपने अपने घरों में रहकर यह यज्ञ संपन्न किया।


रायपुर जिला समन्वयक लच्छू राम निषाद ने बताया कि रायपुर जिला में 25000 से अधिक घरों में साथ ही कई कार्यालय एवं संस्थानों में भी यह यज्ञ संपन्न हुआ इस यज्ञ में गायत्री, महामृत्युंजय एवं सूर्य (आदित्य) मंत्रों से आहुतियां प्रदान की गई।

रायपुर जिले में यहां हुआ महायज्ञ


1, अभनपुर -3500 घर
2, आरंग-2010
3, धरसींवा-2510
4, तिल्दा-,3374
5, खमतराई-,3950
6, तेलीबांधा-1500
7, दावड़ाकालोनी-1500
8, सन्तोषीनगर-1443
9,कुशालपुर- 2551
10,टाटीबंध-815
11,समताकालोनी-850

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *