आजीविका मिशन बिहान से जुड़ी स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पादो की आपूर्ति छात्रावासो, जेल, वृद्धाश्रमो मे होगी – कलेक्टर एल्मा

Uncategorized

अक्षय लहरे@सोनू मुंगेली

कलेक्टर ने विकास और निर्माण कार्यो प्रगति की समीक्षा

मुंगेली. कलेक्टर पी. एस. एल्मा ने बुधवार को जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभा मे विभिन्न विभागो की जिला स्तरीय अधिकारियो की बैठक लेकर विकास और निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा की। उन्होने कहा कि ग्रामीण अर्थ व्यवस्था को और अधिक मजबूती प्रदान करने के लिए राज्य शासन द्वारा नरवा, गरूवा, घुरवा और बारी योजनाओ का संचालन किया जा रहा है और यह योजना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होने इन योजनाओ के तहत गोठानो की स्वीकृति पूर्ण और अपूर्ण गोठान की जानकारी प्राप्त की । उन्होने गोठान परिसर मे पशुओ के लिए चारागाह , फैसिंग, पेयजल के साधन सहित गोठान के माध्यम से स्वसहायता समूह की महिलाओ को दी जा रही रोजगार, गोठान मे वर्मी कम्पोस्ट और नाफेड टंकी के माध्यम से जैविक खाद का निर्माण आदि की जानकारी प्राप्त की ।
बैठक मे कलेक्टर एल्मा ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान से जुडी़ स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा निर्मित वस्तुओ और बाजार की उपलब्धता के बारे मे जानकारी प्राप्त की । बैठक मे उन्होने कहा कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान से जुडे़ स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पादो यथा साबुन, हल्दी मिर्च, आदि की आपूर्ति जिले मे आदिम जाति विकास विभाग द्वारा संचालित छात्रावासो, आश्रम शालाओ सहित जेल , स्कूल, मुकबधिर शालाओ और वृद्धाआश्रमो मे किया जाएगा। इस हेतु उन्होने संबंधित अधिकारियो को सख्त और आवश्यक निर्देश दिये । बैठक मे उन्होने खरीफ फसल के संबंध मे की जा रही तैयारियो की समीक्षा की। बैठक मे उन्होने कहा कि मुंगेली जिला कृषि प्रधान जिला है । खरीफ फसल के लिए कृषको को उनके मांग के अनुरूप खाद बीज उपलब्ध होनी चाहिए । खाद बीज की उपलब्धता मे किसानो को किसी भी प्रकार की परेशानी नही आनी चाहिए। इस अवसर पर उन्होने खरीफ फसल हेतु खाद बीज का भंडारण और वितरण की जानकारी प्राप्त की। बैठक मे कलेक्टर श्री एल्मा ने जिले मे स्वीकृत शासकीय इंग्लिश मिडियम स्कूल की जानकारी प्राप्त की ।

उन्होने इंग्लिश मिडियम स्कूल मे दर्ज संख्या और पंजीकृत बच्चो की भी जानकारी प्राप्त की और इंग्लिश मिडियम स्कूल प्रारंभ होने के पूर्व सभी प्रकार की तैयारी पूर्ण करने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये । बैठक मे उन्होने मुख्यमंत्री कुपोषण अभियान, सुकन्या समृद्धि योजना, मातृ वंदना योजना, चिरायु योजना, आंगनबाडी केंद्रो आदि की विस्तार पूर्वक समीक्षा की। उन्होने महतारी जतन योजना के तहत एनीमिक महिलाओ को दी जा रही राशन के संबंध मे आवश्यक निर्देश दिये। बैठक मे कलेक्टर एल्मा ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की प्रगति की समीक्षा की । उन्होने कहा कि जिले के शत प्रतिशत किसानो को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के दायरे मे लाया जाएगा और दायरें में आने वाले सभी हितग्राहियों को किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) कार्ड जारी करने के निर्देश दिये है।

उन्होने कहा कि किसान के्रडिट कार्ड से ऋण लेने वालो को कृषि तथा उधानिकी कार्य के लिए मात्र एक प्रतिशत ब्याज पर तीन लाख और मछली पालन हेतु एक प्रतिशत ब्याज पर दो लाख रूपये की ऋण स्वीकृत किये जाएगें। ऋण राशि की स्वीकृति व्यवसायिक बैको के माध्यम से किये जाएगे। इसी तरह किसान के्रडिट धारको को मुर्गी पालन , बकरी पालन , सुअर पालन , आदि कार्य के लिए तीन प्रतिशत ब्याज पर ऋण स्वीकृत किये जाएगें। इस हेतु उन्होने संबंधित अधिकारियो को आवश्यक निर्देश दिये । बैठक मे उन्होने निर्माण कार्यो के भी समीक्षा की । उन्होने निर्माणाधीन कार्यो को वर्षा ऋतु के पूर्व पूरा करने के निर्देश दिये। इसी तरह उन्होने नुजूल पट्टे का नवीनीकरण, मोर जमीन मोर मकान , जाति प्रमाण पत्र , संगठित और असंगठित क्षेत्रो मे कामगारो का पंजीयन , नल जल योजना आदि के संबंध मे जानकारी प्राप्त की और संबंधितो को आवश्यक निर्देश दिये । इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्रीमति नुपूर राशि पन्ना, वनमंडलाधिकारी श्री कुमार निशांत, अपर कलेक्टर श्री राजेश नशीने सहित विभिन्न विभागो के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *