तेंदुआ खाल की तस्करी करते एक आरोपी गिरफ्तार……

Uncategorized

by. धर्मेंद्र साहू


गरियाबंद. पुलिस अधीक्षक गरियाबंद भोजराम पटेल को मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम शुक्लाभांठा बाघनाला पुलिस के पास एक व्यक्ति सफेद रंग का फुल र्शट एवं खाकी रंग कर फुल पेंट पहना हुआ तथा लाल रंग के मोटर सायकल के डिक्की में जंगली जानवर तेन्दुवा के खाल को रख कर बिक्री करने के फिराक में ग्राहक तलाश कर रहा था। मिली सूचना के अधार पर घटना स्थल घोर नक्सल संवेदनशील होने से पुलिस कप्तान के द्वारा तत्परता दिखाते हुये मौके पर स्पेशल पुलिस टीम को मय आर्म्स एम्युनेशन के रवाना होने के लिए निर्देश किया। मौके पर स्पेशल टीम थाना प्रभारी शोभा संतोष जायसवाल, प्रधान आरक्षक विजय मिश्रा, प्रधान आरक्षक अंगद राव, आरक्षक सुशील पाठक, आरक्षक चूडामणी देवता, आरक्षक दीप्तनाथ प्रधान, आरक्षक जय प्रकाश मिश्रा, आरक्षक देवेन्द्र परिहार, आरक्षक सुनील पाण्डेय, आरक्षक सोना यादव, आरक्षक मनोज ध्रुव के द्वारा मय आर्म्स एम्युनेशन के साथ पहुच कर घेरा बंदी कर उक्त व्यक्ति को पकड कर नाम पता पुछने पर अपना नाम बुदूराम गोंड़ पिता सोनहेर गोंड़ उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम विजयपुर थाना रायधर (उड़िसा) तथा वन्य जीव के खाल के संबंध कड़ाई से पुछताछ करने पर पानी में जहर ड़ाल कर मारना बताया। वन्य जीव तेन्दुवा की चमड़ा पूर्ण विकिसत जिसके सिर से पूंछ तक की लम्बाई 82 इंच, सिर से पीठ तक की लम्बाई 47 इंच, पूंछ की लम्बाई 35 इंच, शरीर की मध्यम भाग की चौड़ाई 17 इंच, सिर के पास की चौड़ाई 10 इंच, पुरा बाल लगा हुआ तथा चारो पैर में 1-1 नाखून लगा हुआ। जिसे समक्ष गवाहन के घटना स्थल पर जप्त किया गया। तलाशी के दौरान आरोपी के कब्जे से एक अपने मोटर सायकल के ड़िक्की में एक सफेद रंग के बोरी में वन्यप्राणी तेन्दुवा का खाल रखना पाया गया। आरोपी के कब्जे में वन्य जीव रखने के संबंध में कोई वैध कागजात नही होने से उक्त आरोपी का कृत्य अपराध धारा- 9,39(ख),51,52 वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 एवं 03 लोक सम्पत्ति का निवारण अधिनियम का घटित पाये जाने से विधिवत समक्ष गवाहन के गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *