लॉक डाउन के बाद उग्र आंदोलन की तैयारी : गलत सीमांकन से ग्रामीण असंतुष्ट

छत्तीसगढ़

By. अविनाश वाधवा


(मामला संभव स्पंज आयरन सरोरा का)

तिल्दा नेवरा – सरोरा मुक्तिधाम कब्जा हटाओ आंदोलन के प्रमुख सदस्य श्री कामता प्रसाद शर्मा ने कहा कि सरोरा में किये गये सीमंकन से ग्रामवासी असंतुष्ट हैं व लाॅकडाउन के बाद शमशान घाट से कब्जा हटाने हेतु राजस्व विभाग का सहयोग ना मिला तो उग्र आंदोलन किया जायेगा. तीन दिन के सीमांकन में मात्र खानापूर्ति की गई हैं l वे स्वंय सीमांकन में मौजूद रहे व पूरी प्रकिया के गवाह हैं l उल्लेखनीय है कि संभव स्पंज आयरन सरोरा द्वारा शमशान घाट की भूमि खसरा नम्बर 761, सिंचाई विभाग का जलाशय ,,चार किसानो की काबिल काश्त भूमि व कोटवार मनहरण दास की भूमि पर किये गये कब्जे को तीन दिन तक सीमांकन किया गया l उक्त सीमांकन से ग्रामवासी असंतुष्ट हैं l कोटवार मनहरण दस की भूमि खसरा नम्बर 758 रकबा 1.2540 हेक्टर आबंटित हैं जिसमे दो एकड़ जमीन में कब्जा हैं पर उस ज़मीन को तीन दिन के नापजोख में भी नापकर चिन्हांकित नहीं किया गया l ग्रामीणों के अनुरोध को अनसुनी कर दिया गया l शमशान घाट के खसरा नम्बर 761 जो सबसे विवादित हैं उसे नापने में भारी अनियमितता बरती गई व दो तीन बार अलग अलग जगह से पॉइंट बनाया गया व जिस पॉइंट से प्लांट की भूमि बच जाये उसे फाइनल कर सीमांकन की खानापूर्ति कर दी गई जिससे ग्रामिनो में असंतोष व्याप्त है l सीमांकन रिपोर्ट में भी कुछ लोगो को गुमराह का हस्ताक्षर करा लिया गया हैं. सरोरा जलाशय का नाप जलभराव के कारण नहीं हो सका l पुरानीबस्ती के शमशान घाट में पूर्वजों की समाधि को संभव स्पॉन्ज प्लांट सरोरा के मालिक विकास गोयल द्वारा जानबूझकर नक्शा चेंज कराकर प्रशासनिक अधिकारियो से मिलकर अवैध कब्जा करने की नियत से नीव खुदाई कर दिया हैं जिसमे कंकाल निकला हैं जिससे ग्रामवासियो की भावना को ठेस पहुंची हैं l ग्रामवासी शमशान में समाधि को नुकसान पहुंचाने के आरोप में प्लांट के खिलाफ कारवाही हेतु भी विचार कर रहे हैं. शमशान घाट के सीमांकन से खसरा नम्बर 761 पटवारी हल्का नम्बर 6 पर अवैध कब्जा होना साबित हुआ हैं l अभी भी समाधि पर नीव खुदाई हैं व लगभग एक एकड़ भूमि पर डस्ट डाला गया हैं l संभव स्पॉन्ज प्लांट के उक्त क्रिया कलाप से ग्रामीणो में भारी आक्रोश हैं l गांव के 100 से ज्यादा किसानो व युवाओं ने लाॅकडाउन के बाद अगली लड़ाई लड़ने का मन बना लिया हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *