प्रवासी मजदूरों को औषधि व काढ़ा वितरण किया गया

छत्तीसगढ़

By. शिवचरण सिन्हा

दुर्गुकोंदल:- क्वारंटाइन केंद्र पाउरखेड़ा मेडो का निरीक्षण कर प्रवासी मजदूर के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेकर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए औषधि व काढ़ा को 15 दिनों के लिए प्रदान की गई एवं होम क्वारन्टीन के महत्व को समझाते हुए कोविड 19 से बचाव के उपाय बतलाए गए। कोई भी खाली पेट ना रहे रोज 1 घंटे धूप में गर्म पानी का सेवन करें गले को गीले रखें आधा चम्मच सोंठ हर सब्जी में रखते हुए डाले घर में कपूर और लॉन्ग डाल के धूनी दे फल में ज्यादा से ज्यादा संतरा नींबू का सेवन करें सभी बार-बार हाथ को साबुन से धोएं उपवास ना करें चाय में अदरक डालकर पिए सरसों का तेल नमक में लगाएं रात को दही का सेवन न करें बच्चों को और खुद भी रात को एक-एक कप हल्दी डालकर दूध पिए सभी मार्क्स का उपयोग करें मैदा में बनी चीज चीनी प्रॉडक्ट फ्रीज में रखी हुई किसी भी खाद्य सामग्री का उपयोग ना करें आयुर्वेद इन दो शब्दों के मेल से बना है आयुष का अर्थ है जीवन कथा वेद का अर्थ है विज्ञान इस प्रकार आयुर्वेद शब्द का अर्थ जीवन का विज्ञान अर्थात जीवन को ठीक प्रकार से जीने के विज्ञान है क्योंकि यह विज्ञान केवल रोगों की चिकित्सा रोगों को ही ज्ञान प्रदान नहीं करता बल्कि जीवन जीने के लिए सभी प्रकार के आवश्यक ज्ञान की प्राप्ति कराता है और बिना औषधि से कैसे स्वस्थ रहा जा सकता है वह हमारा आयुर्वेद।डॉ के वही वेणुगोपाल के मार्गदर्शन में औषधालय के कर्मचारी कुमारी सविता कैमरे,सोना राम नेताम,जगदीश मरकाम का सहयोग प्राप्त हो रहा है जिला आयुर्वेद अधिकारीडॉ ए सी किरण तिग्गा के निर्देशानुसार यह प्रयास सभी के सहयोग से चलता रहेगा इस अवसर पर सरपंच अनुज खरे, सरपंच प्रतिनिधि तुलसी मतलाम,सचिव गैंदलाल एवं ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *