धान के बाद सब्जी उत्पादन में आमदनी बढ़ रही…

छत्तीसगढ़

दुर्गुकोंडल. विकासखंड दुर्गुकोंडल मुख्यता आदिवासी क्षेत्र है जहां पर किसान परंपरा ढंग से खेती करते आ रहे हैं क्योंकि अंचल में सिंचाई की अलावा अन्य साधन नहीं होने के कारण बारिश की खेती पर निर्भर रहते हैं किंतु विगत 7 8 वर्षों से उद्यान विभाग से संचालित योजनाओं को क्षेत्र के किसानों तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है. उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक कांकेर वी के गौतम के निर्देशन में उद्यान अधीक्षक आरसी एस सेंगर के मार्गदर्शन मे क्षेत्र में उद्यानिकी विभाग के द्वारा संचालित योजनाओं को जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है जिसका परिणाम अंचल में लिखने लगा है. अब किसानों में जागरूकता आ गई है जिसके कारण अपने क्षेत्र में उद्यान विभाग से ड्रिप इरिगेशन शेड नेट हाउस पैक हाउस जैसे इसका योजनाओं का लाभ ले रहा है और फलों की खेती के लिए खासकर आम पौधा रोपण में विशेष रूचि ले रहे हैं. शासन की महत्वकांक्षी योजना नरवा गरवा घुरवा बाड़ी जो कि वर्ष 2019 20 से संचालित है उसमें उद्यानिकी विभाग किसानों की बाड़ी की विकास का विशेष प्रयास किया जा रहा है. किसानों को विभाग द्वारा सभी का फल पौधा लगाया जा रहा है विगत वर्ष 500 बाड़ियों में सब्जी भी प्रदान किया गया था. इस वर्ष भी 525 बाड़ियों के लिए सब्जी इसी प्रकार विकासखंड के गौठान चयनित गांवों में महिलाओं स्व सहायता समूह को सब्जी की खेती करने के लिए हुई सब्जी बीज हल्दी बीज प्रदान किया गया है एवं तकनीकी जानकारी विभाग.के दारा दिया जा रहा है. प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को विभाग के द्वारा विकासखंड के गांव गांव में विभाग के द्वारा पहुंचाया जा रहा है जिसमें लोग धान फसल के अलावा सब्जी फसलों की ओर विशेष ध्यान दिया जा रहा है साथ ही जिससे क्षेत्र के सब्जी उत्पादन किसानों के द्वारा गांव गांव में के जा रहा है और अपने छोटे-छोटे बाजार सड़क पर अपनी आमदनी बढ़ा रहे हैं वही उद्यानिकी विभाग के ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी धीरज कुमार उके संदीप सोरी सुश्री विंदा पोटाई धन सिंह निषाद के द्वारा गोठान एवं गांव में किसानों को सब्जी उत्पादन के संबंध में तकनीकी जानकारी खाद बीज दवाई समय पर पौधा तैयार करने लगाने एवं अन्य जानकारी देते रहते हैं जिससे क्षेत्र में सब्जी उत्पादन दिनों दिन बढ़ते जा रहा है और लोगों का रुझान धान के बाद सब्जी उत्पादन की ओर बढ़ रहे हैं उनकी आमदनी में वृद्धि हो रही हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *