सरपंच समेत अन्य ने फर्जी मस्टारोल भरकर किया पैसा गबन, ग्रामीणों ने लगाया आरोप …

क्राइम छत्तीसगढ़

धमतरी. कुरूद. ग्राम पंचायत दहदहा-मौरी खुर्द के ग्रामीणों ने पूर्व सरपंच एवं वर्तमान सरपंच के खिलाफ मनरेगा में फर्जीवाड़ा कर फर्जी मस्टारोल भरकर पैसा निकालने की शिकायत कुरूद एसडीएम से जांच कर कार्रवाई करने की मांग की थी ।
जिसके तहत्_ जांच में आये अधिकारीयों ने शिकायतकर्ताओं और सरपंच, पूर्व सरपंच, पूर्व पंच रोजगार साहयिका, पंचायत मेट से बयान दर्ज किए ।

जिसमें ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि सरपंच एवं पूर्व सरपंच, रोजगार साहयिका आदि ने फर्जी मस्टारोल भरकर पैसा गबन किया है। कई ऐसे व्यक्ति हैं जिसने कभी मनरेगा में काम भी नहीं किया है फिर भी उनके नाम से पैसा निकाला गया है. ग्राम पंचायत दाहदहा में मनरेगा के तहत फर्जीवाड़े की शिकायत हुआ था जिसमें जांच अधिकारियों द्वारा शिकायतकर्ताओं और जिनकी शिकायत हुआ है. उनका बयान लिखित में दर्ज किया गया ,जिसमें डिलन चंद्राकर ने बयान दिया कि वे मजदूर का काम नहीं किया है वे कामो की देखरख किया है जिसके लिए 88दिन की हाजरी डाला गया है,पूर्व सरपंच करुणा चन्द्राकर ने कहा कि वे 13दिन काम की है ,त्रिभुवन साहू ने कहा कि मै और मेरी पत्नी,बेटी मेरे परिवार ने मनरेगा मजदूर का काम किया है कोई फर्जी नहीं हुआ है । जिस पर शिकायतकर्ताओं ने कहा कि त्रिभुवन साहू ने फर्जी जाब कार्ड से अपने परिवार के अलावा दूसरे परिवार के लोगो का नाम है जो कानून अपराध है,त्रिभुवन साहू मजदूर की तरह एक भी दिन काम नहीं किया है वे स्वयं रोगजर सहयक बनकर दूसरो की हाजरी लेना तथा मस्टररोल तैयार करता था इनकी पत्नी कुछ कमो में गई है और कुछ हाजरी फर्जी है रेणुका जो त्रिभुवन की बेटी हैं आज तक काम नहीं की है,तथा और भी अपने करीबी लोगो का फर्जी तरीके से हाजरी डाला गया है.डिलन चंद्राकर ने जो बयान दिया है वो आज तक कार्य नहीं किया है न ही उनका हाजरी को रोजगार सहायक द्वारा पुकारा गया है गुपचुप तरीके से डाला गया है जो फर्जी है, एक तरफ डीलन चंद्राकर द्वारा मीडिया के सामने यह कहा जाता है कि रोजगार सहियका द्वारा चुना रस्सी के लिए हाजरी डाल दिया था जिसका पैसा जनपद में वापस कर दिया हूं, पति पत्नी के अलग अलग ब्यान हो रहे हैं।
अब यह भी चर्चा का विषय बन रहा है कि 13 दिन की हाजरी गलती से नहीं होती तो पति पत्नी में कौन झूठ बोल रहा है यह भी एक विषय बन रहा है।
देखने वाली बात यह है कि आगे क्या कार्यवाही होगी।

शिकायतकर्ताओं के बयान में थनेश्वर साहू, हरि विश्वकर्मा ,देवकुमार,रमेश, शिवदयाल सहित और भी लोगो का बयान दर्ज किया गया है । पंचायत वासी गौतम साहू, केशव साहू, राजेंद्र यादव, राजेश साहू, महिपाल यादव, हिरेंद साहू, शिवदयाल ध्रुव, मनोज साहू, तोरण साहू, ओंकार चंद्राकर, हरि साहू, कस्तूक चंद्राकर, देवकुमार चंद्राकर, शशि चंद्राकर, विश्वनाथ साहू, बलदाऊ साहू, ओमप्रकाश साहू, तारणी साहू, चंद्राकला, करूणा चंद्राकर, रेखू साहू, चुनु यादव, कमलेश साहू , चंद्र कुमार साहू, देवराज चंद्राकार, गोविंद साहू आदि ग्रामीण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *