माकड़ी में 375 जोड़ों का कराया सामूहिक विवाह

छत्तीसगढ़

कोंडागांव ।विकासखण्ड माकड़ी के मण्डी प्रागंण में 02 मार्च को मुुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत सामुहिक विवाह का आयोजन प्रारंभ हुआ। इस दो दिवसीय आयोजन मे आज ’’मंड्पाच्छादन’’ एंव ’’समधीभेंट’’ ’’तेल मायन’’ जैसी कई प्रचलित पारंपरिक वैवाहिक रस्में संपन्न हुई एवं दिनांक 03 मार्च को ’’लगन’’ और ’’आर्शीवाद’’ समारोह होगें जिसमे मंत्री वाणिज्यकर (आबकारी) एंव उद्योग विभाग कवासी लखमा मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहेगें। ज्ञात हो कि महिला बाल विकास विभाग एंव जिला प्रशासन के तत्वाधान मे 375 जोड़ो के इस सामुहिक विवाह कार्यक्रम मे बस्तर की सांस्कृतिक लोक परम्परा और आदि काल से चले आ रहे सामाजिक रीति-रिवाजो को पूर्णतः ध्यान मे रखकर आयोजन सम्पन्न किया जायेगा। इस कड़ी मे 02 मार्च को कार्यक्रम की शुरूवात मे पुजारी, गांयताओ के साथ वर और वधु पक्ष के परिजन जनप्रतिनिधि और कर्मचारी शीतला मंदिर पहुंचकर पूजा अर्चना के पश्चात ’’देवतेल’’ लेकर विवाह स्थल पंहुचे जहां महिला एवं बाल विकास विभाग के कर्मचारियों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। लोक परम्परा के अनुसार इस दौरान लोक गीतो के साथ साथ माहरी, मांदरी, बाजा की आवाजें विवाह स्थल मे लगातार गूंजती रही। बस्तर संभाग मे प्रचलित ’’माहला’’ रस्म की अदायगी के पश्चात वर-वधु पक्ष का ’’समधी भेंट’’ कार्यक्रम किया गया जिसमे जिला कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम की अगवाई मे अधिकारियो- जनप्रतिनिधियो ने सभी कार्यक्रमो मे उत्साह पूर्वक भाग लिया। कल होने वाले आर्शीवाद समारोह मे सभी नवविवाहित जोड़ो को विभाग द्वारा अनेक उपहार भी दिये जायेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *