अध्यापन में शिक्षकों का प्रस्तुतीकरण आकर्षक होना चाहिए: शिक्षा मंत्री

छत्तीसगढ़

शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला फुण्डहर के नवीन भवन का लोकार्पण

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह ने आज यहां फुण्डहर में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला के नवीन भवन का लोकार्पण किया। भवन का निर्माण विद्युतीकरण सहित एक करोड़ 52 हजार रूपए की लागत से किया गया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता रायपुर ग्रामीण विधायक एवं पूर्व शिक्षा मंत्री सत्यनारायण शर्मा ने की।
डॉ. प्रेमसाय सिंह ने लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार की सोच है कि विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले। विद्यालयों में शिक्षक के अध्यापन का प्रस्तुतिकरण आकर्षक होना चाहिए जिसे विद्यार्थी आसानी से समझ सकेंगे। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में पढ़ाई के साथ-साथ खेल और सांस्कृतिक गतिविधियों को भी समग्र रूप से जोड़ा जाना चाहिए। डॉ.प्रेमसाय सिंह ने कहा कि इन गतिविधियों में भी प्रतिभाओं की कमी नहीं है। स्कूल शिक्षा मंत्री ने बताया कि विद्यालय तक पहुंचे मार्ग निर्माण के लिए लोकनिर्माण विभाग के बजट में राशि का प्रावधान कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में बॉन्ड्रीवाल का निर्माण होगा, जिससे विद्यालय परिसर के पास स्थित नालों और तालाब का पानी वर्षा ऋतु में नहीं भरेगा। उन्होेंने कहा कि विद्यालय की जो भी अन्य आवश्यकता होगी उसे पूरा करने का प्रयास होगा, इसके लिए बजट में प्रस्ताव को शामिल किया जाएगा। विद्यालय से संबंधित समस्याओं को धीर-धीरे दूर किया जाएगा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधायक रायपुर ग्रामीण सत्यनारायण शर्मा ने कहा कि हायर सेकण्डरी स्कूल के बहुप्रतीक्षित भवन का आज लोकार्पण हो गया है। उन्होंने कहा कि विद्यालय के चारों तरफ नाला और तालाब होने के कारण बरसात में पानी भरने के कारण दिक्कत होती है। नाले का पानी रोकने के लिए रिटर्निंग वॉल और तालाब का पानी रोकने के लिए स्टॉप डेम या चेक डेम का निर्माण करना जरूरी है। स्कूल के विद्य़ार्थियों की सुरक्षा के लिए बॉण्ड्रीवॉल का निर्माण किया जाए। विद्यालय में विद्यार्थियों की संख्या के अनुपात में शिक्षकों की व्यवस्था के लिए सेटअप को रिवाईज किया जाए। श्री शर्मा ने सेजबहार हायर सेकण्डरी स्कूल में भी बॉण्ड्रीवाल निर्माण कराने का आग्रह किया। उन्होंने आशा व्यक्त कि की यह विद्यालय एक मॉडल स्कूल बनेगा। कार्यक्रम को श्री पंकज शर्मा, पार्षद श्रीमती श्रद्धा मिश्रा ने भी संबोधित किया। विद्यालय की प्राचार्य वंदना अग्रवाल ने विद्यालय का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए आवश्यकताओं की जानकारी दी।
कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की पूजा अर्चना कर किया गया। विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत सरगुजिया नृत्य पर स्कूल शिक्षा मंत्री ने सांस्कृतिक दल को 1100 रूपए का नगद पुरस्कार प्रदान किया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी जी.आर. चंद्राकर, शाला विकास समिति के पूर्व सदस्य धनुवाराम, विष्णु साहू, नानू ठाकुर, शत्रुघन ढीढी, गोविंद मिश्रा, धरमपुरा और शारदा स्कूल के प्राचार्य सहित विद्यालय की शिक्षक, छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *