कोविंड 19 :   सावधानी व बचाव के उपाय

By. शिवचरण सिन्हा

दुर्गुकोंडल. जिला आयुर्वेद अधिकारी काकेर के निर्देशानुसार आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर के वी गोपाल के मार्गदर्शन में 18 अगस्त को विकासखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर मिचेसुखई एवं नेवारी का निरीक्षण कर स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेकर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए औषधि और त्रिकूट काढा चूर्ण और होम क्वॉरेंटाइन केंद्र के लिए 15 दिनों के लिए वितरण किया गया. एवं होमकोरेटाईन का महत्व समझाया गया. कोविंड 19
में सावधानी व बचाव के उपाय बताया गया व महत्व समझाया और सावधानी व बचाव के उपाय बताया. कोरेटाईन किसी ऐसे व्यक्ति को अलग रखने की प्रक्रिया है जो कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आया हो परंतु उसमें कोई लक्षण नहीं हुए हो ऐसे व्यक्ति को 14 दिन तक कोरेटाईन में रखा जाना आवश्यक है. कोरेटाईन के दौरान व्यक्ति के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाती है जिससे लक्षण उत्पन्न होने पर तत्काल रोग की पहचान की जा सके करने से अन्य व्यक्तियों में संक्रमण फैलने अन्य व्यक्तियों को रोका जा सकता है. कोरेटाईन की प्रक्रिया आइसोलेशन से भिन्न है आइसोलेशन प्रक्रिया में लक्षण पाए गए मरीजों को अन्य व्यक्तियों से अलग रखा जाता है जिस में संक्रमण न फैले कोरेटाईन का अभिप्राय ऐसे सुविधाओं की व्यवस्था है. जहां उपरोक्त व्यक्तियों को समुदाय में पृथक कर निगरानी में रखा जा सके कोरेटाईन किए गए सभी व्यक्तियों को संक्रमण से बचाने हेतु साधनों में समस्त जानकारी देना आवश्यक है खासते या धीकत समय एवं व्यक्तित्व पेपर से नाक और मुंह ढकने कारण केंद्र में रखे गए व्यक्तियों के उपयोग किए गए टीशू पेपर मास्क डिस्पोजल इत्यादि को विषाणु रहित करने पश्चात ही नष्ट किया जाए. हाथ को साबुन से बार-बार कम से कम 40 सेकंड तक धोयें हाथ की स्वच्छता हेतु अल्कोहल बेड सैनिटाइजर का भी उपयोग किया जा सकता है. नाक व मुंह को छूने से बचें कोरेटाईन केंद्र की नियमित रूप से कीटाणु नाशक पदार्थों से साफ सफाई की जाए कोरेटाईन केंद्र के बाथरूम एवं टायलेट टेबल बिस्तर फर्नीचर इत्यादि को ब्लीचिंग पाउडर से साफ किया जाए कोरेटाईन केंद्र में व्यक्तियों द्वारा उपयोग किए गए कपड़े टावेल बिस्तर इत्यादि को 60 से 90 डिग्री के तापमान में गर्म पानी से धोये जाए. केंद्रों में 2 बिस्तरों की दूरी कम से कम 1 मीटर रखें कोरेटाईन केंद्र में व्यक्तियों के भोजन एवं पानी की स्वच्छता का ध्यान रखते हुए स्वच्छता की की जानी चाहिए. इस अवसर पर आयुर्वेद औषधालय के कर्मचारी सुश्री सविता कोमरे सोनाराम नेताम जगदीश मरकाम इस covid-19 के जागरूकता कार्यक्रम में सतत सहयोग दे रहे है इस अवसर पर ग्राम पंचायत के सरपंच अनुज खरे एवं ग्राम पंचायत के सुखई के सरपंच सुमित्रा दुगा एवं अन्य ग्रामीण जन उपस्थित थे ।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *