राजीव गांधी ने ‘पावर टू द पीपल’ आइडिया को देश की पंचायती राज व्यवस्था को लागू करवाने की दिशा में कदम बढ़ाकर देश के लोकतंत्र को सशक्त बनाने का काम किया था.

By. धर्मेंद्र साहू

धमतरी. आज सिहावा विधानसभा के कांग्रेसियों द्वारा राजीव ग्राम दुगली मे स्व. राजीव गांधी की  जयंती सद्भवना दिवस के रूप मे मनाई  गई । इस अवसर पर सिहावा विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने स्व. राजीव गांधी की प्रतिमा मे माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया।
इस दौरान डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने कहा कि स्व राजीव गांधी आधुनिक भारत के स्वपनदृष्टा थे प्रधानमंत्री रहते हुए राजीव गांधी जी ने 21वीं सदी के आधुनिक भारत के निर्माण की नींव रखी थी, जिसका फायदा आज भी देश के लोग को हो रहा हैं.

पहले देश में वोट देने की उम्र सीमा 21 वर्ष था, लेकिन राजीव गांधी की नजर में यह उम्र सीमा गलत थी. उन्होंने 18 वर्ष की उम्र के युवाओं को मताधिकार देकर उन्हें देश के प्रति और जिम्मेदार तथा सशक्त बनाने की पहल की
राजीव गांधी ने ‘पावर टू द पीपल’ आइडिया को देश की पंचायती राज व्यवस्था को लागू करवाने की दिशा में कदम बढ़ाकर देश के लोकतंत्र को सशक्त बनाने का काम किया था. 1989 में एक प्रस्ताव पास कराकर पंचायती राज को संवैधानिक दर्जा दिलाने की दिशा में कोशिश की . राजीव गांधी का मानना था कि जब तक पंचायती राज व्यवस्था सबल नहीं होगी, तब तक निचले स्तर तक लोकतंत्र नहीं पहुंच सकता. उन्होंने अपने कार्यकाल में पंचायतीराज व्यवस्था लागू कर पंचायतों को  सशक्त किया ।


राजीव गांधी ने देश में सर्वप्रथम कम्प्यूटर एवं डिजिटल टेक्नोलॉजी से देश का परिचय कराया


आधुनिक शिक्षा नीति की नींव भी राजीव गांधी ने ही रखी जिसके तहत ग्रामीण इलाकों के बच्चो के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय जैसे संस्थान स्व. राजीव गांधी के प्रयासों का ही नतीजा है । राजीव गांधी जी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद देश की शिक्षा व्यवस्था में काफी बदलाव लाने का काम किया था. राजीव  गांधी ने शिक्षा मंत्रालय को मानव संसाधन विकास मंत्रालय में तब्दील किया था इसके तहत पूरे देश में उच्च शिक्षा व्यवस्था का आधुनिकीकरण और विस्तार हुआ.
राजीव गांधी ने देश में सर्वप्रथम कम्प्यूटर एवं डिजिटल टेक्नोलॉजी से देश का परिचय कराया था आज जो हम डिजिटल इको सिस्टम से परिपूर्ण सूचना प्रद्योगिकी संचार क्रांति से युक्त  जीवन व्यतीत कर रहे है यह सब राजीव गांधी के दूरगामी सोंच एवं प्रयासों का ही नतीजा है।

आदिवासियों के उत्थान के लिए राजीव गांधी दुगली 1985 मे आये थे


अंत मे डॉ. ध्रुव ने कहा कि आदिवासियों के उत्थान के लिए राजीव गांधी सिहावा विधानसभा के ग्राम दुगली सन 1985 मे आये थे उन्होंने यहां कमार परिवारों के साथ बैठ कर भोजन किया था आज भी उनकी स्मृतियां दुगलीवसिंयों के हृदय मे निवास करती है ।
क्षेत्र की विधायक होने के नाते मे राजीव ग्राम दुगली के सम्पूर्ण विकास के लिए संकल्पित हूं आने वाले दिनों मे हम दुगली को बेहतर मूलभूत इंफ्रास्ट्रक्चर , स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा  देने हेतु वचनबद्ध है ।
इस कार्यक्रम में वरिष्ठ कांग्रेसी एल एल ध्रुव,अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी बेलर कैलाश नाथ प्रजापति,विधायक प्रतिनिधि रुद्र प्रताप नाग,माखन भरेवा,रवि ठाकुर,शकुंतला ठाकुर,भरत निर्मलकर, जियाउद्दीन रिजवी,सोहन चतुर्वेदी,अनूप वट्टी,सचिन भंसाली,जावेद मेमन,महेंद्र धेनुसेवक, विमला मरकाम,रेणुका शर्मा,जयंती साहू,नंदनी कंचन,प्रीति साहू,प्रदीप सोन,रोशन साहू,विश्वजीत,नटवर नेताम, अकरम खान,नदीम अली,प्रमोद कुंजाम,अभिषेक बंजारे,रमाकांत तिवारी,रतेश्वर नेताम,रामेश्वर मरकाम,पवन कुमार,आसकरण  समस्त कांग्रेसी कार्यकर्तागण एवं ग्रामवासी शामिल हुवे ।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *