• मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर-1800 599 0019 पर मिलेगी पूरी जानकारी


राजनांदगांव। मनोविकार से पीड़ित लोगों के सशक्तीकरण के लिए भारत सरकार के दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की किरण बड़ा सहारा बन सकती है। किरण उस हेल्पलाइन सेवा का नाम है, जो 24 घंटे और सप्ताह के सातों दिन उपलब्ध रहेगी। इस सेवा के माध्यम से मानसिक विकार से ग्रसित लोगों को उपचार संबंधी राहत देने का प्रयास किया जाएगा।
आज-कल की भाग-दौड़ भरी जीवनशैली की वजह से लोगों में मानसिक तनाव एक आम समस्या बनती जा रही है। इसकी रोकथाम के लिए सरकार के द्वारा विभिन्न माध्यमों से प्रयास किए जा रहे हैं, जिसका एक हिस्सा किरण योजना भी है। इस योजना के अंतर्गत मानसिक रोगी टोल फ्री नंबर डॉयल कर मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित कोई भी जानकारी हासिल कर सकते हैं।
मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर-1800 599 0019 के माध्यम से चलाई जा रही किरण योजना का मुख्य उद्देश्य मानसिक रोगियों का प्रारंभिक उपचार करना, प्रारंभिक मदद देना, मनोवैज्ञानिक सलाह प्रदान करना, समस्या प्रबंधन, मानसिक कल्याण तथा विचलित व्यवहार करने से रोकने में मदद करना है। साथ ही विशेष परिस्थितियों में मानसिक रोगी को इस हेल्पलाइन के माध्यम से मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ को संदर्भित भी किया जा सकता है। इसके माध्यम से चिन्हित मरीजों को चिंता, अवसाद, पैनिक अटैक, आत्महत्या की रोकथाम, समायोजन विकार, मादक द्रव्यों के सेवनए पोस्ट-ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर तथा जुनूनी-कंप्लसिव डिसऑर्डर जैसे विकारों की उपचार सेवा देने का प्रयास किया जाएगा।

इस संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. मिथलेश चौधरी ने बताया, मनोविकार से पीड़ितों की उपचार संबंधी सहायता के लिए भारत सरकार द्वारा किरण नाम से एक हेल्पलाइन सेवा शुरू की जा रही है। कौशल विकास, पुनर्वास और व्यक्तियों के सशक्तीकरण के लिए पूरा कार्यक्रम दिव्यांगजन मिश्रित क्षेत्रीय केंद्र, राजनांदगांव की ओर से पुराना जिला अस्पताल परिसर में आयोजित किया जाएगा। किरण योजना से छत्तीसगढ़ में जुड़ने के लिए भारत सरकार के दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की ओर से बाकायदा प्रकिया भी स्पष्ट की गई है, जिसके अंतर्गत सबसे पहले हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर-1800 599 0019 डायल करना होगा। इसके पश्चात हिंदी में संदेश सुनने के लिए मोबाइल के डायल पैड पर 1 दबाना होगा। वहीं छत्तीसगढ़ के लिए उपलब्ध सेवाओं की जानकारी के लिए डायल पैड पर 3 दबाना होगा। इस प्रक्रिया के माध्यम से यह जानकारी मिलेगी कि विकारों के उपचार के लिए कहां पर तथा कैसे सेवा मिलेगी। उन्होंने बताया, अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 तक जिले में 771 नए मानसिक रोगी मिले, जिसमें सबसे अधिक 101 केस साइकोसिस के मिले हैं। वहीं इस अवधि में 59 नए मानसिक रोगियों को मानसिक रोग चिकित्सालय में भर्ती कर उनका इलाज किया गया है। उन्होंने बताया, मानसिक रोग के लक्षणों को यदि समय पर पहचान लिया जाए तो उचित इलाज के जरिए इसे आसानी से ठीक किया जा सकता है।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *