• एजेंसियों को वित्तीय वर्ष 2021-22 की कार्ययोजना की प्रस्ताव प्रस्तुत करने के दिए निर्देश

जशपुरनगर 08 अप्रैल 2021।संसदीय सचिव एवं कुनकुरी विधायक श्री यू.डी.मिंज की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में परियोजना क्रियान्वयन समिति की बैठक आयोजित हुई। इस अवसर पर कलेक्टर श्री महादेव कावरे, वनमंडलाधिकारी श्री कृष्ण जाधव, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री के.एस.मण्डावी, परियोजना प्रशासक श्री बी .के. राजपूत, सभी विकासखंडों के जनपद सीईओ सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
परियोजना क्रियान्वयन समिति की बैठक में श्री मिंज ने जिले में कोविड-19 के बढ़ते प्रकरणों को ध्यान में रखते हुए सभी अधिकारियों को अपना एवं अपने परिवार का ध्यान रखने एवं कोविड-19 गाईड लाईन का पालन करते हुए कार्य करने की बात कही। उन्होंनें जिले में आदिवासी क्षेत्रों में शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, उद्यानिकी की स्थिति को बेहतर बनाने के साथ ही अनुसूचित जनजाति वर्ग के युवाओं को रोजगार से जोड़ने तथा क्षेत्र में बुनियादी सुविधाओं के विकास के लिए किए जाने वाले कार्यो के संबंध में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने जिले में परियोजना मद से युवाओं के कौशल विकास प्रशिक्षण, जैसे विभिन्न कार्य किए जाने के निर्देश दिए। जिससे युवाओं को रोजगार उपलब्ध हो सके।
श्री मिंज ने जिले में कृषि के क्षेत्र में विकास के संबंध में बताते हुए कहा कि जिले में कृषि के विकास की अपार संभावनाएं है। उन्होंने कहा कि भविष्य में जशपुर एग्रो टूरिज्म के लिए जाना जाएगा। यहां की जलवायु विभिन्न फसलों चाय, कॉफी, सेव, नाशपाती, स्ट्रॉबेरी, चिकू, उत्पादन के लिए अनुकूल है। इस हेतु यहां मौसमी फसलों के साथ ही उद्यानिकी फसलों को बढ़ावा देने की आवष्यकता है साथ ही इसके प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने की बात कही। जिससे स्थानीय उत्पादित वस्तुओं को वैल्यू एडिषिन कर विक्रय के लिए बाजार उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंने इस संबंध में सभी विभागों को विषेष प्रयास करने के निर्देष दिए। श्री मिंज ने जिले में ड्रिप सिंचाई के माध्यम से खेती को बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करने की बात कही। जिससे कि किसानों को सिंचाई के लिए अधिक पानी की आवष्यकता न पड़े एवं वे सिमित जल से ही उत्पादन को बढ़ा सके साथ ही मिट्टी के कटाव को भी रोका जा सके।
इस दौरान श्री मिंज द्वारा बीते वर्षों में परियोजना मद से स्वीकृृत कार्यों की अद्यतन स्थिति समीक्षा करते हुए लंबित एवं अपूर्ण कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण कराए जाने के भी निर्देश संबंधित विभागों को दिए गए। साथ ही पूर्ण हो चुके कार्यो का पूर्णता प्रमाण पत्र विभाग को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने एजेंसियों द्वारा गत वर्षों में स्वीकृत राशि का उपयोग न करने के संबंध में नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि जिले के विकास और जनहित कार्यों में दिए जाने वाले राषि का उपयोग एजेंसी तत्परता से करे। साथ ही गत वर्षो के स्वीकृत राशि जिनका उपयोग नहीं किया गया है उक्त राशि संबंधित विभाग को लौटाने के निर्देश दिए। श्री मिंज ने छत्तीसगढ़ षासन की महत्वपूर्ण योजना नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी के संबंध में जानकारी लेते हुए गौठानों में नियमित गोबर खरीदी खाद निर्माण करने के निर्देश दिए। उन्होंने गौठानों के माध्यम से महिला समूह को विभिन्न गतिविधियों से जोड़कर उन्हें स्वावलंबी बनाने एवं गौठान को आत्म निर्भर बनाने की बात कही। इस हेतु उन्होंने सभी अधिकारियों को प्राथमिकता से कार्य करने के लिए निर्देशित किया।
कलेक्टर श्री कावरे ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि परियोजना मद का उद्देश्य जिले के आदिवासी वर्ग के लोगों के जीवन स्तर को बेहतर बनाना है। उन्होंने सभी विभागों को अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने तथा राशि का समय-सीमा में उपयोग सुनिश्चित करने की बात कही। उन्होंने कहा कि जिले में स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि के क्षेत्र को बेहतर बनाने के लिए विभिन्न कार्य किए जाने है। साथ ही सभी एजेंसियों को माह के 5 तारीख तक स्वीकृत निर्माण कार्यो की कार्य प्रगति की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया।
बैठक में परियोजना प्रशासक श्री राजपूत ने चालू वित्तीय वर्ष में परियोजना मद के अंतर्गत आबंटन एवं इसके अंतर्गत कराए जाने वाले कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने सभी एजेंसियों को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कार्य योजना तैयार कर प्रशासकीय स्वीकृति हेतु यथाशीघ्र प्रस्तुत करने की बात कही।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *