दुर्गुकोंदल : माइंस बंद मजदूरों और ट्रक मालिकों पर रोजी रोटी का संकट

By।शिवचरण सिन्हा

दुर्गुकोंदल। तहसील क्षेत्र में संचालित श्री बजरंग आयरन ओर माइंस को आज कलेक्टर कांकेर द्वारा कंटेन्मेंट जोन घोषित कर दिया गया और आनन फानन में अग्रिम आदेश आने तक के लिए खदान क्षेत्र को सील कर दिया गया है। 13 अप्रैल से माइंस में उत्खनन एवं परिवहन अग्रिम आदेश तक बंद रहेगा और किसी को भी वहाँ आने जाने की अनुमति नहीं होगी। बताया गया कि माइंस के 10 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जिसके चलते जिला प्रशासन को यह कदम उठाना पड़ा। आपको बता दें कि इस माइंस पर आसपास के सैकड़ों परिवारों की निर्भरता है। माइंस बन्द हो जाने से मजदूर परिवारों पर रोजी रोटी का संकट गहरा गया है। साथ ही परिवहन व्यवसाय से जुड़े लोगों में भी मायूसी की लहर दौड़ पड़ी है क्योंकि परिवहन के के लिए ये लोग इसी माइंस पर निर्भर हैं ।यदि माइंस सुचारू रूप से नही चलेगी तो इन्हें गाड़ियों की क़िस्त भरने में संकट का सामना करना पड़ेगा। माइंस बन्द हो जाने से लोगों भारी आक्रोश व्याप्त है। परिवहन संघ के अध्यक्ष श्रीराम बघेल ने इस कार्यवाही को द्वेष पूर्ण कार्यवाही बताया । बहुजन समाज पार्टी के विधानसभा प्रभारी कमल कोर्राम का कहना है कि प्रशासन द्वारा इस तरह की कार्य प्रणाली उचित नहीं है आदिवासी बहुल क्षेत्र के ग्रामीणों का इस बंदी से रोजगार छीन रहा है । मजदूरों और ट्रक मालिकों के साथ पूरी तरह अन्याय पूर्ण कार्य किया गया है यदि जल्द ही माइंस को चालू नही किया जाता तो लोग सड़कों पर उतर कर तहसील प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करने को मजबूर हो जाएंगे। वहीं मजदूर संघ द्वारा भी तहसील प्रशासन को चेतावनी भरा पत्र दिया गया है कि यदि माइंस को तत्काल चालू नहीं किया गया तो जितने दिन तक माइंस का कार्य बंद रहेगा उतने दिन की मजदूरी प्रशासन द्वारा मजदूरों को प्रदान की जाए । तहसील प्रशासन इस कोरोना काल में लोगों को भुखमरी की कगार पर न पहुचाए और तत्काल माइंस चालू करे।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *