By।शिवचरण सिन्हा

  • न्यू डेडीकेटेड कोविड हाॅस्पिटल ईमलीपारा में 236 बिस्तरों की सुविधा

कांकेर /रायपुर /30 अप्रैल 2021।प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज कांकेर के नांदनमारा जीएनएम टेªनिंग सेंटर में कोरोना सैंपलों की आरटीपीसीआर जांच के लिए बनाये गये वायरोलॉजी लैब का ऑनलाइन शुभारंभ किया। इस नए लैब को मिलाकर प्रदेश के अब नौ शासकीय लैबों में आरटीपीसीआर जांच की सुविधा हो गई है, इससे रोजाना आरटीपीसीआर जांच की संख्या बढ़ने के साथ ही लोगों को रिपोर्ट भी जल्दी मिलने लगेगी। श्री सिंहदेव ने आज कांकेर के ईमलीपारा में 236 बिस्तरों के नए डेडीकेटेड कोविड अस्पताल का भी शुभारंभ किया।: कांकेर के नवनिर्मित वायरोलॉजी लैब का उदघाटन करते हुए स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि छत्तीसगढ़ कोरोना के विरूद्ध लड़ाई में मजबूती से आगे बढ़ रहा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की शुरूआत के समय एक भी वायरोलॉजी लैब नहीं था। एम्स रायपुर के बाद प्रदेश के सभी छह शासकीय मेडिकल कॉलेजों रायपुर, बिलासपुर, जगदलपुर, राजनांदगांव, रायगढ़ और अंबिकापुर में आरटीपीसीआर जांच की सुविधा विकसित की गई। आज प्रदेश के दो नए मेडिकल कॉलेज कांकेर और महासमुंद में भी वायरोलॉजी लैब की शुरूआत हो रही है। इन नई सुविधाओं से प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की पहचान और उन्हें समय पर उपचार उपलब्ध कराने में तेजी आएगी। स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने वायरोलॉजी लैब के लोकार्पण के दौरान मौजूद जनप्रतिनिधियों और मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों-कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आरटीपीसीआर जांच की संख्या बढ़ाने स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरबा, कोरिया, जशपुर, जांजगीर, दुर्ग, दंतेवाड़ा और बलौदाबाजार में भी वायरोलॉजी लैब की स्थापना का काम प्रारंभ किया जा चुका है। इनके साथ ही शासन द्वारा बालोद और मुंगेली में भी वायरोलॉजी लैब खोलने की अनुमति दी गई है। इन सभी सुविधाओं के तैयार हो जाने के बाद प्रदेश में आरटीपीसीआर जांच की सुविधा वाले शासकीय केंद्रों की संख्या 18 हो जाएगी। विभाग की कोशिश रहेगी कि ये सभी लैब जल्दी से जल्दी शुरू हो जाएं।
लोकार्पण कार्यक्रम में संसदीय सचिव एवं क्षेत्रीय विधायक श्री शिशुपाल शोरी, कलेक्टर श्री चन्दन कुमार, मेडिकल काॅलेज कांकेर के डीन एम.एल. गर्ग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. जे.एल. उईके भी वीडियो कॉन्फ्रेंस से जुड़े थे। वहीं रायपुर से स्वास्थ्य मंत्री के साथ विभागीय अपर मुख्य सचिव श्रीमती रेणु जी. पिल्लै, चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक डॉ. आर.के. सिंह और गैर-संचारी रोगों के नोडल अधिकारी डॉ. कमलेश जैन लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल हुए। एम्स रायपुर के निदेशक डॉ. नितिन एम. नागरकर और डॉ. अनुदिता भार्गव भी कार्यक्रम में ऑनलाइन मौजूद थीं।
सिंहदेव ने प्रदेश में नए वायरोलॉजी लैबों की स्थापना में एम्स रायपुर की भूमिका को रेखांकित करते हुए निदेशक डॉ. नितिन एम. नागरकर को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि राज्य शासन और एम्स कोरोना नियंत्रण के साथ ही सुपेबेड़ा में किडनी रोगों से प्रभावितों के ईलाज के लिए साथ-साथ काम कर रहे हैं। श्री सिंहदेव ने कांकेर में वायरोलॉजी लैब की स्थापना में सहयोग के लिए छत्तीसगढ़ विधानसभा के उपाध्यक्ष एवं भानुप्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री मनोज मण्डावी, संसदीय सचिव एवं कांकेर विधायक श्री शिशुपाल शोरी और अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री अनूप नाग को भी धन्यवाद दिया।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *