तिल्दा नेवरा:कन्या शाला में अंग्रेजी स्कूल के संचालन से कन्या शाला के छात्राओं को भटकना पड़ेगा

By।अविनाश वाधवा

भाजपा पार्षद मनोज निषाद

तिल्दा नेवरा। नगर में एकमात्र कन्या शाला स्कूल है जो छत्तीसगढ़ शासन के नए अंग्रेजी स्कूल के कारण ध्वस्त होने वाले हैं । नगर के कन्या शाला स्कूल में नगर के एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से छात्राएं इस स्कूल में बड़े विश्वास के साथ पढ़ाई करते आ रहे थे। वही छात्राओं के माता-पिता भी कन्याशाला होने के करण बेफिक्र होकर अपने कन्याओं को इस स्कूल में दाखिला कराते थे लेकिन छत्तीसगढ़ शासन के स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल अब नगर के एकमात्र कन्या शाला में ही अंग्रेजी स्कूल का संचालन किया जाना है जिसके कारण यह कन्या शाला के पूरे स्टाफ और वहां पर अध्ययनरत छात्राओं को अब इधर उधर भटकना पड़ेगा। क्योंकि इस स्कूल में अंग्रेजी स्कूल की सभी प्रक्रिया को पूर्ण करते हुए पूर्ण रूप से अंग्रेजी स्कूल बनाया जा रहा है जहां पर पूर्व में संचालित शासकीय कन्याशाला बिखर जाएगा और छात्राओं की भविष्य भी अब कहीं ना कहीं अंधेरे में जाते हुए दिखाई दिया जा रहा है ।

नगर के भाजपा पार्षद मनोज निषाद ने कहा कि अगर इस स्कूल में शासन अपना अंग्रेजी स्कूल को संचालन करना चाहता है तो कोई दिक्कत नहीं है लेकिन वहां पर पहले से ही चल रहे कन्याशाला और उस शाला परिवार में जुड़े हुए सभी कर्मचारी शिक्षकगण एवं अन्य सभी स्टॉप का कोई उचित व्यवस्था किया जाना चाहिए । अभी तक शासन के द्वारा किसी भी प्रकार का कोई उचित व्यवस्था नहीं किया गया है जिसके कारण कन्याशाला अब नगर में बंद होने की स्थिति में है।

पार्षद निषाद ने बताया कि इस विषय में वे अपने साथी जनप्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए इस विषय को उच्च स्तर तक ले करके जाएंगे और कलेक्टर एवं शिक्षा मंत्री से इस विषय में चर्चा करेंगे और कोई उचित रास्ता इन छात्राओं एवं इस स्कूल में पहले से कार्यरत शिक्षकों को किसी अन्य शासकीय स्कूल में यथावत स्थानांतरण करने की मांग करेंगे। उन्होंने बताया कि अगर छात्राओं की और उनके पालकों से को हर संभव सहयोग करने की कोशिश उनके द्वारा किया जाएगा ।एवं अपने जनप्रतिनिधि साथियों के साथ विचार विमर्श करने के बाद आंदोलन भी किया जा सकता है लेकिन नगर में एकमात्र शासकीय कन्या शाला को यथावत नगर में संचालन करने के लिए भरपूर प्रयास किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.