रायपुर 21 अगस्त।राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में प्रौढ़ शिक्षा और जीवन पर्यन्त सीखने पर विशेष बल दिया गया है। इसे पूरा करने के लिए सरकार नई प्रौढ़ शिक्षा नीति योजना लाई है। जिसमें राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण (NCERT) द्वारा NCF विकसित करने हेतु जिसमें उत्कृष्ट प्रौढ़ शिक्षण पाठ्यचर्या ढांचा विकसित किया जाएगा जो प्रौढ़ शिक्षा के लिए समर्पित हो ताकि साक्षरता , संख्यात्मकता, बुनियादी शिक्षण ,व्यावसायिक कौशल, आदि के लिए उत्कृष्ट पाठ्यचर्या का निमार्ण किया जाएगा जिसमें निम्न बिन्दु शामिल हैं-

(1) बुनियादी साक्षरता,संख्या ज्ञान, (2) मत्वपूर्ण जीवन कौशल,(3) व्यवसायिक कौशल विकास,(4) बुनियादी शिक्षा,(5) सतत शिक्षा ।

इन बिन्दुओं को केन्द्र में रखते हुए सभी प्रशासनिक संस्थाएँ- राष्ट्रीय साक्षरता मिशन प्राधिकरण, राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण, जिला साक्षरता मिशन प्राधिकरण, व इनकी समितियों एवं MLMS, TLMS साथ ही आकादमिक संस्थाएँ- राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण (NCERT) व राष्ट्रीय साक्षरता केन्द्र, राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद व राज्य साक्षरता केन्द्र, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के साथ जिला साक्षरता केन्द्र द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NPS) 2020 को केन्द्र मानकर प्रौढ़ शिक्षा हेतु छत्तीसगढ़ राज्य के SCERT में SCERT के संचालन श्री डी. राहुल वेंकट (IAS) के कुशल नेतृत्व में 18 से 19 अगस्त को (SCFs में SCFs एवं फोकस ग्रुप विकसित करने हेतु) 18 से 19 अगस्त कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें डॉ. योगेश शिवहरे अतिरिक्त संचालक,डॉ.एम.सुधीश (समग्र शिक्षा),डॉ. प्रशांत कुमार पांडेय सहायक संचालक(SLMA) के कुशल मार्गदर्शन में आयोजित किया गया, जिसमें जिलों से डाईट और जिले के प्रतिभागियों ने भाग लिया जिला शिक्षा अधिकारी एवं सदस्य सचिव जिला साक्षरता मिशन प्राधिकरण एवं RMSA समग्र शिक्षा के द्वारा सभी जिले से राज्य स्त्रोत व्यक्तियों को कार्यशाला हेतु भेजा गया जो प्रौढ़ शिक्षा पाठ्यचर्या पेपर विकसित कर सभी ब्लॉक, संकुल व गॉव तक के कुशल क्रियान्वयन हेतु लागू कार्य करेंगे इस अवसर पर सभी जिलों के प्रतिभागी उपस्थित रहें।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *